स्थित प्रार्थनासन | Sthita Prarthana Asana

स्थित प्रार्थनासन क्या है? | What is Sthita Prarthana Asana ?

यह भी प्रार्थनासन की एक मुद्रा है, इसमें शरीर को स्थिर रखा जाता है, इसलिए इसे स्थित-प्रार्थनासन कहते हैं।

स्थित प्रार्थनासन के लाभ | Sthita Prarthana Asana Benefits

स्त्री-पुरुष दोनों के लिए सरल एवं लाभकारी है। शरीर को स्थिर एवं स्फूर्तिवान बनाता है।

ये भी पढ़े:- गोरक्षासन विधि और लाभ

स्थित प्रार्थनासन की विधि | Sthita Prarthana Asana Steps

Sthita Prarthana Asana steps

सीधे खड़े हो जाएं। दोनों पांवों के पंजे आगे से मिले रहें। अब दोनों हाथों को छाती के सामने लाकर परस्पर जोड़ लें। इस स्थिति में शरीर को ढीला तो रखें परन्तु झुकने न दें। दृष्टि सामने रहे।

यह स्थिति सूर्य नमस्कार की प्रथम स्टेप भी है।

ये भी पढ़े:- हंसासन योग की विधि और फायदे

विशेष

स्त्रियों, पुरुषों दोनों के लिए सरल आसन है।

स्थित प्रार्थनासन करने का समय | Timing of Sthita Prarthana Asana

इस आसन के अभ्यास को पांच से दस मिनट तक करें।

ये भी पढ़े

मकरासन योग का तरीका, फायदे और सावधानी| Makarasana Yoga Pose

वृक्षासन | vrikshasana steps

Add Comment