सर्पासन | Sarpasana

सर्पासन | Sarpasana योग आसन पर मुख्यतया ध्यान नहीं दिया जाता है। लेकिन इसके कई लाभों की वजह से, यह जल्दी ही आपका एक पसंदीदा आसन बन जायेगा है। विशेष रूप से अन्य योग से ज्यादा खिंचाव और पुश मूवमेंट्स है।

शुक आसन | Shukasana

सर्पासन क्या है? | Sarpasana

इस आसन को करते समय व्यक्ति के शरीर की मुद्रा सर्प की एक विशेष मुद्रा के समान होती है, अतः इस आसन को ‘सर्पासन’ कहते हैं।

उत्थित पद्मासन | Utthita Padmasana

सर्पासन करने की विधि | Sarpasana Steps

जमीन पर आसन बिछाकर पेट के बल लेट जायें। फिर दोनों हाथों की उंगलियों को एक-दूसरे में फंसाकर पीछे की ओर खींचें, सांस भरते हुए गर्दन और टांगों को ऊपर उठाकर पेट के सहारे दायें-बायें रोल करें। फिर इस क्रिया को पुनः दोहरायें। इस आसन को करते समय झटके से कभी शरीर को ऊपर नहीं उठाना चाहिये। धीरे-धीरे आसन करना ही लाभप्रद सिद्ध होता है।

Pawanmuktasana in Hindi | पवनमुक्तासन

विशेष

  • इस आसन में पीठ के बल लेटकर शरीर को थोड़ा ऊपर उठाते हैं।
  • इस आसन को करते समय चेहरा पूर्व दिशा की ओर रहना चाहिये।
  • इस आसन में शरीर को तना हुआ रखना चाहिये। इस आसन को धीरे-धीरे बैर्यपूर्वक्त करना ही उत्तम होता है।

सर्पासन करने का समय

इस आसन को सुविधानुसार जितनी देर तक कर सकते हैं, करें।

ध्वनि योग | नाद योग – Yoga

सर्पासन का लाभ | Sarpasana Benefits

हम हमारे दैनिक दिनचर्या में रोजाना सामान्यतया हम बहुत आगे की ओर झुकते हैं। लेकिन पीछे की ओर नहीं झुकते है। इसलिए ये आसान पीछे की और झुकाते हुए है। इसलिए इस आसन का अभ्यास स्वस्थ पीठ के लिए है। और शरीर को सामान्य संतुलन देने के लिए है।

इसके निम्न लाभ है जो निचे दिए गए है-

  • इस आसन को करने से कव्ज, बदहजमी, वायु विकार आदि रोग दूर होकर मोटापा कम होता है।
  • इस आसन के निरन्तर अभ्यास करने से पेट चिकना और सुडील बनता है।
  • यह शरीर का संतुलन बनता है।
  • बढ़े हुए पेट को कम करके मोटापे को घटाता है।
  • कब्ज को दूर करता है, भूख बढ़ाता है।
  • पीठ की मांसपेशियों को मजबूत करने में मदद करता है।

योगासनों का महत्व हमारे जीवन में

सर्पासन में सावधानी

  • इस आसन को करते समय हृदय की स्थिति और उच्च रक्तचाप वाले लोगों को नहीं करना चाहिए।
  • पेप्टिक अल्सर, हर्निया, आंतों के तपेदिक या हाइपरथायरायडिज्म से ग्रसित रोगियों को योग शिक्षक के सलाह के अनुसार ही इस आसन का अभ्यास करना चाहिए।
  • ध्यान रहे की इस आसन का सही तरीके से अभ्यास किया जाये।

सर्पासन | Sarpasana लेख में आसन के कुछ ऐसे फायदों को बताया गया है, जिनका लाभ नियमित अभ्यास से उठा सकते हैं।

सूर्य नमस्कार | Surya Namaskar 12 Pose and Benefits in Hindi

Meditation in Hindi | ध्यान साधना कैसे करे

Add Comment