जानें सेंधा नमक के ये फायदे और नुकसान

रॉक साल्ट या सेंधा नमक उपवास रखने वालो के लिए यह पसंदीदा है। नवरात्री के शुभ अवसर पर ये और लोकप्रिय हो जाता है जो सबसे अधिक उपयोग किया जाता है। नमक का सबसे शुद्ध रूप सेंधा नमक है जो कच्चा और रासायनिक घटको से रहित होता है। इसमें पोटेशियम, लोहा, कैल्शियम, जस्ता, मैग्नीशियम, तांबा और इसके अलावा शरीर के लिए आवश्यक तत्वों में से 84 तत्व शामिल हैं। यह एक बेहतर नमक है। यह एक अत्यधिक क्रिस्टलीय नमक है।

कुछ लोगो की धारणा है की सेंधा नमक, काला नमक नहीं है। यह समुद्र के पानी को वाष्पित करके बनाया जाता है और इसमें सोडियम क्लोराइड (टेबल सॉल्ट के विपरीत) अधिक मात्रा में नहीं होता है। यह पीएच संतुलन बनाए रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

आयुर्वेद के अनुसार सेंधा नमक(Rock Salt) गर्मी करने के बजाय ठंड करता है और अन्य प्रकार के नमक की तुलना में पित्त को संतुलित करने में मदद करता है। इस नमक का उपयोग से अधिक नमक का उपयोग करने से होने वाले खतरे को कम करता है।

और ये भी पढ़े:- काली मिर्च के फायदे

सेंधा नमक के फायदे | Rock Salt Benefits in Hindi

पाचन समस्याओं के लिए | Sendha Namak for digestive disorders in Hindi | Rock Salt Benefits for Digestive disorders

सेंधा नमक पाचन की समस्या के लिए और पेट के दर्द से रहत के लिए एक प्राकृतिक उपाय है। आप एक गिलास लस्सी में सेंधा नमक और ताजे पुदीने की पतिया डालकर पिने से फायदा होता है। इसके अलावा इसका उपयोग छींक लेने में सहायक है।

और ये भी पढ़े:- गर्म पानी पीने के चमत्कारी फायदे

ब्लड प्रेशर को स्तर रखने के लिए | Sendha Namak or Rock Salt for BP in hindi

सेंधा नमक(Rock Salt) उच्च और निम्न रक्तचाप के संतुलन को बनाए रखने में और रक्तचाप को स्थिर करने में मदद करता है। उच्च रक्तचाप के लोगों के लिए यह साधारण नमक की जगह उपयोग करने का बेहतर विकल्प है। लो ब्लड प्रेशर में आप एक गिलास पानी में आधा चमच सेंधा नमक डालकर दिन में दो बार ले सकते है।

और ये भी पढ़े:- अगर आपको भी है लो ब्लड प्रेशर की प्रॉब्लम तो ये जरुर पढ़ें | Low BP Symptoms and Treatment in Hindi

रोग प्रतिरोधक बढ़ाने के लिए | Sendha Namak or Rock Salt for  Boosts Immunity in Hindi

सेंधा नमक रोग प्रतिरोधक क्षमता के लिए एक फायदेमंद होता है। इसमें आवश्यक खनिज शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली को बेहतर बनता है। इसके साथ ही इसमें हानिकारक जीवनो से लड़ने की और बीमारी को रोकने की क्षमता होती है।

साइनस के लिए | Sendha Namak or Rock Salt for Sinus in Hindi

सांस की समस्याओं और साइनस से पीड़ित लोगों के लिए सेंधा नमक फायदेमंद है। सेंधा नमक से गरारे करने से गले की खराश, सूखी खांसी और टॉन्सिल से राहत मिलती है, या सेंधा नमक को पानी और इनहेल स्टीम में घोलना चाहिए।

और ये भी पढ़े:- साइनस से सावधान! इलाज और लक्षण

वजन कम करने के लिए | Sendha Namak or Rock Salt for Weight Loss in Hindi

वजन कम करने में ये फायदेमंद हो सकता है। आप साधारण नामक की जगह सेंधा नमक का2q उपयोग करना शुरू कर दो। फलो पर भी साधारण नामक की जगह सेंधा नामक का उपयोग करो।यह मर्त वसा(dead cells) को हमारे शरीर को हटाने में मदद करता है।

और ये भी पढ़े:- वजन घटाने के आसान उपाय और नुस्खे(weight loss tips in hindi)

नींद करने लिए  | Sendha Namak or Rock Salt for Sleep in Hindi

विशेषज्ञों का कहना है की 8 घंटे की नींद हमारे शरीर के लिए आवश्यक है। इससे कम नींद शरीर के लिए नुकसानदायक होती है। सेंधा नमक से हमारे शरीर का मेलाटोनिन का स्टार नियंत्रित होता है जो नींद के चक्र को नियंत्रित करता है।

और ये भी पढ़े:- नींद पूरी नहीं लेने की वजह से हो सकता है नुकसान

तनाव को कम करने में | Sendha Namak or Rock Salt for Reduces Stress in Hindi

तनाव के कारण रात को नींद नहीं आती है। सेंधा नमक शरीर और दिमाग को आराम देने में मदद करता है। तनाव और चिंता को दूर करने के लिए, पानी में एक बड़ा चम्मच सेंधा नमक मिलाएं और से स्नान करें।

स्वस्थ त्वचा के लिए | Sendha Namak or Rock Salt for Skin in Hindi

त्वचा को साफ़ करने और रोम छिद्रों से छुटकारा पाने के लिए सेंधा नमक बहुत फायदेमंद है। इसका उपयोग जब बाहरी रूप से किया जाता है, तो यह शरीर से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकलने में मदद करता है। अपने सामान्य क्लीन्ज़र के साथ एक बड़ा चम्मच सेंधा नमक मिलाएँ और फेस वाश(स्क्रब) के रूप में उपयोग करें।

मसूड़ों के लिए | Sendha Namak or Rock Salt for Bleeding gums in Hindi

मसूड़ों में रक्त का स्राव एक प्रकार से दर्दनाक और शर्मनाक हो जाता है। 1 चम्मच सेंधा नमक, त्रिफला चूर्ण और नीम पाउडर इन तीनो को मिलाएं। इसका एक चुटकी मिश्रण लेकर मसूड़ों पर मसाज करे फिर पानी से कुल्ला करे।

और ये भी पढ़े:-अजवाइन के फायदे | Ajwain Benefits in Hindi

सेंधा नमक के नुकसान | Sendha Namak or Rock Salt Side Effects in Hindi

इस नमक का उपयोग बीपी, शोथ (edema) से ग्रसित व्यक्ति को नहीं करने की सलाह दी जाती है। इसका बहुत अधिक उपयोग करने से bp बढ़ सकता है।

आपको बता दे की सेंधा नमक में आयोडीन बहुत कम होता है। लेकिन इसमें आवश्यक खनिज अधिक होने पर इस खाने के लिए कहा जाता है। इसलिए आयोडीन नमक कम होने के कारण इसमें साधारण नमक को बराबर मात्रा में मिलाकर उपयोग कर सकते है।

और ये भी पढ़े

Eye Health Tips in Hindi | कैसे रखें अपनी आंखों को स्वस्थ

त्रिफला चूर्ण के फायदे | Triphala Churn Benefits in Hindi

Add Comment