जांघ का फड़कना क्या है

जांघ का फड़कना(Jangh ka fadakna)-हमारा शरीर भविष्य में होने वाली घटना के बारे में पहले ही संकेत दे देता है। अक्सर हमारे शरीर में जो भी हलचल होती है जो हमारे जीवन में बहुत प्रभाव डालती है ।

जिस प्रकार शरीर के अन्य अंग हमारे जीवन में होने वाली घटनाओ के बारे में संकेत करते है। जांघ का फड़कना भी हमारे जीवन में प्रभाव पड़ता है। ये शुभ और अशुभ दोनों प्रभाव डालता है। आइये जानते है जांघ का फड़कने का मतलब क्या है और ये हमे क्या संकेत देते है। नाक का फड़कना शुभ या अशुभ

dayi or bayi Jangh ka fadakna

दाहिने जांघ का फड़कना |

समुद्रशास्त्र के अंगो के फड़कने के अनुसार अगर आपको दाहिनी जांघ फड़कती है तो ये आपके लिए अशुभ संकेत है। इस अंग के फड़कने का मतलब है की आपको किसी के सामने अपमानित और शर्मिंदा होना पड़ेगा। आपके मान सम्मान को ठेस पहुंच सकती है।

कुछ का मन्ना है की दाईं जांघ फड़कने का मतलब शत्रु शांत होने का संकेत हैं।

और ये भी पढ़े:- भौह फड़कना कैसा होता है

बाएं या बायीं जांघ का फड़कना

अगर आपको बायीं जांघ फड़कती है तो इसका मतलब है की ये आपके लिए शुभ संकेत है। बायीं जांघ फड़कना इस बात की और इशारा करती है की आपको धन का लाभ होने वाला है। या फिर आपको कोई शुभ समाचार मिल कस्ते है।

दूसरा बायीं जांघ का फड़कना ये भी बताता है की मुसीबत में आपको कोई दोस्त आपकी सहायता करेगा। बाईं जांघ के फड़कने का अर्थ है की दोस्त से सहायता मिलने का संकेत हैं।

और ये भी पढ़े

गाल फड़कने का मतलब

ठुड्डी का फड़कना कैसा होता है ?

होंठ का फड़कना शुभ या अशुभ

Add Comment