Breaking News
Home / HEALTH / पेट की गैस की समस्या से पाएं आसानी से छुटकारा अपनाएँ ये आसान टिप्स
पेट की गैस की समस्या से पाएं आसानी से छुटकारा अपनाएँ ये आसान टिप्स

पेट की गैस की समस्या से पाएं आसानी से छुटकारा अपनाएँ ये आसान टिप्स

आजकल की इस भाग दौड़ भरी इस जिन्दगी में पेट में गैस बनना एक बेहद आम समस्या है। शायद ही कोई व्यक्ति हो, जिसे पेट की गैस की परेशानी का अनुभव न हुआ हो। यह बीमारी किसी को भी किसी भी उम्र में हो सकती है। अक्सर पेट में गैस के कारण हमें कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है जैसे कि पेट का फूला फूला सा महसूस होना और ऐसे में हम काफी असहज महसूस करते है और हमारे काम करने की क्षमता पर भी इसका बुरा असर पड़ता है। यदि समय रहते इसका उपचार नहीं किया जाता तो ये आगे बढ़कर अल्सर का रूप धारण कर लेती है। तो आइये आज हम आपको इससे बचने के उपायों के बारे में बताते हैं।

अंगूर खाने से दूर होती हैं कई गंभीर बीमारियां, जानें अंगूर खाने के फायदे

1.पेट में गैस होने के लक्षण

  • पेट में तेज दर्द होना और पेट फूल जाना
  • भूख ना लगना और हमेशा पेट भरा भरा रहना
  • खट्टी डकार आना और साँसों में बदबू आना
  • बेचैनी और सर दर्द होना
  • चिड़चिड़ापन होना और किसी काम में मन ना लगना

शरीर के जोड़ों और हड्डियों में दर्द के कारण लक्षण और उपचार

2.पेट में गैस होने के कारण

  • ज्यादा समय तक भूखे रहना
  • अनियंत्रित और असीमित मसालेदार भोजन करना
  • जंक फूड्स और फ़ास्ट फूड्स का सेवन ज्यादा करना
  • बिना चबाये और जल्दी जल्दी भोजन करना
  • संतुलित मात्रा में पानी ना पीना
  • मादक पदार्थों का सेवन ज्यादा करना
  • हमेशा अधिक तनाव में रहना
  • कोई भी फिजिकल एक्टिविटी जैसे जिमिंग, साइकिलिंग, रनिंग या वाकिंग ना करना

डाइटिंग के अलावा ये टिप्स अपनाकर भी रखें खुद को फिट एंड एक्टिव

3.ऐसे पाएं पेट में गैस की समस्या से छुटकारा

  • भोजन खूब चबा-चबाकर आराम से खाएं। भोजन के बीच में अधिक पानी न पिएं, भोजन करने के आधे घण्टे बाद ही पानी पियें।
  • ज्यादा समय तक भूखे ना रहें कुछ न कुछ हल्का फुल्का जैसे फ्रूट्स वगैरह लेते रहें।
  • दिन भर में 8 से 10 गिलास पानी का सेवन अवश्य करें।
  • दिन में सोना छोड़ दें और रात्रि को मानसिक परिश्रम और तनाव से बचें।
  • प्रतिदिन कोई न कोई व्यायाम करने की आदत बनाएं।
  • रात को हल्का भोजन करें, तले हुए भोजन से बचें।
  • पेट के आसन करने से भी पेट के रोगों में लाभ मिलता है।

शरीर के जोड़ों और हड्डियों में दर्द के कारण लक्षण और उपचार

4.पेट में गैस की समस्या से छुटकारा पाने के कुछ प्राकृतिक और घरेलू उपचार

  • नीबू का रस व मूली खाने से गैस की तकलीफ नहीं होती और पाचन क्रिया सुधरती है।
  • गाजर का रस पीने से रक्त की अशुद्धि और पेट की गैस दूर होती है।
  • अजवायन के चूर्ण को गर्म पानी के साथ सेवन करने से पेट का तनाव, बदहजमी आदि रोगों में लाभ होता है।
  • प्याज के रस में काला नमक और हींग पीसकर व मिलाकर पीने से पेट की गैस और गैस का दर्द ठीक हो जाता है।
  • 1 ग्राम पिसी हुई हल्दी में 1 ग्राम पिसा हुआ नमक मिलाकर गर्म पानी के साथ सेवन करने से पेट हल्का हो जाता है।
  • अदरक का रस, नीबू का रस और शहद दिन में 3 बार सेवन करने से पेट की गैस की समस्या से छुटकारा मिलता है।
  • भोजन करने के बाद एक चम्मच अजवाइन के साथ चुटकी भर काला नमक चबाकर खाने से पेट की गैस शीघ्र ही निकल जाती है।
  • थोड़ा-सा सेंधा नमक तथा 4 कालीमिर्च और 4 लौंग पीसकर आधी कटोरी पानी में उबालकर पीने से पेट की गैस में तुरंत आराम मिलता है।
  • भोजन के बाद अदरक और नींबू का रस एक-एक चम्मच की मात्रा में लेकर उसमें थोड़ा-सा काला नमक मिलाकर दोनों समय सेवन करने से गैस की सारी तकलीफें दूर हो जाती हैं।
  • पेट में जलन या गैस महसूस होने पर नींबू पानी और नींबू की चाय तुरंत राहत देती है।
  • पेट में गैस महसूस होने पर अदरक का एक छोटा सा टुकड़ा दातों से अच्छे से चबाएं।
  • सेब के सिरके की दो चम्मच गुनगुने पानी में मिलाकर पीने से गैस में तुरंत राहत मिल जाती है।
  • चुटकी भर भुना जीरा, काला नमक और पुदीना छाछ में मिलाकर खाना खाने के बाद पीने से गैस की समस्या आमतौर पर निजात मिल जाती है।
  • पुदीना हमारे पूरे स्वास्थ्य के लिए एक वरदान है। पेट की गैस में पुदीने का जूस, इसकी चटनी, काढ़ा या ग्रीन टी के रूप में पुदीने का सेवन किया जा सकता है।

शरीर के जोड़ों और हड्डियों में दर्द के कारण लक्षण और उपचार

कान का मोम (मैल) निकालने के घरेलू उपाय

About admin

Check Also

शरीर के जोड़ों और हड्डियों में दर्द के कारण लक्षण और उपचार

शरीर के जोड़ों और हड्डियों में दर्द के कारण लक्षण और उपचार

आजकल ज्यादातर लोगों को जोड़ों के दर्द की शिकायत है। मौसम में बदलाव, बढ़ती उम्र, …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *