गर्मियों में इन फलों के सेवन से होगा फायदा

गर्मियों में इन फलों का करे सेवन- आमतौर पर गर्मियां हमारे खान-पान की आदतों को भी प्रभावित करती है। ऐसे मौसम में भूख कम लगती है बहुत से लोगो को तो गर्मियों में कुछ भी खाने की इच्छा नहीं होती वैसे भी गर्मियों में भूख से अधिक खाना भी नहीं चाहिए। लेकिन फलों का सेवन आप कभी भी कर सकते है। और सव्स्थय भी रह सकते है ।

गर्मी में इन तरीको से रखे स्किन का ख्याल

गर्मियों के मौसम में फलों का सेवन इसलिए भी आवश्यक हो जाता है क्योंकि इस मौसम में पसीना बहुत अधिक होता है। ऐसे में शरीर में पोषक तत्वों की आवश्यकता और बढ़ जाती है। फलों के जूस की तुलना में फलों में विटामिन और पोटेशियम की अधिक मात्रा में आवश्यकता होती है। इन्ही कारणों से शरीर में पानी की आवश्यकता भी बढ़ जाती है। गर्मियों में मिलने वाले कुछ फल गर्मियों के लिए और सवास्थ्य की दृष्टि से बेहद ही अच्छे होते है । आइये गर्मियों में स्वास्थ्य के लिए ऐसे ही कुछ लाभकारी फलों को जाने:-

आम – गर्मियों के मौसम के साथ ही बाजार में कई प्रकार के आम दिखने लग जाते है। स्वाद की दृष्टि से तो आम हम सभी को अच्छे लगते है । लेकिन शायद ही हममे से बहुत कम लोग इसमें मौजूद पोषक तत्वों के बारे में जानते हों। सिर्फ एक आम में प्रचुर मात्रा में विटामिन सी, पोटेशियम लोहा और बीटा कैरोटीन पाए जाते है आम में फाइबर भी पर्याप्त मात्रा में होते है । आम की प्रजातियां और आमो के लाभ-Mango Benefits

तरबूज – तरबूज बेहद ही ठन्डे फलों में गिना जाता है । गर्मियों में जहाँ हमारे शरीर में पानी की कमी हो जाती है, तो इन स्थिति में तरबूज लाभदायक होता है तरबूज खाने से मोटापा कम होता है । खाना खाने के बाद तरबूज के सेवन से खाना जल्दी पच् जाता है । तरबूज में विटामिन्स भरपूर मात्रा में पाए जाते है । यहां तक की बुखार होने पर भी इसका सेवन किया जा सकता है ।

पपीता – गर्मियों में पपीता खाने से पेट की समस्याये नहीं होती। पपीते में पर्याप्त मात्रा में विटामिन ए के सेवन से रतोंधी नहीं होती और आँखों की रोशनी ठीक रहती है। पपीते के सेवन से रक्त साफ़ रहता है और महिलाओं के लिए भी यह फल अच्छा है । पपीते में बीता केरोटीन, विटामिन, फाइबर और पोटेशियम भी पाया जाता है।

10 कारण जंक फूड आपके स्वास्थ्य के लिए खराब है

धनिये का पानी पीने के फायदे

Weight Loss Tips: वजन कम करना है तो ये सब्जियां खाएं

Add Comment