जानिए एप्सम सॉल्ट के फायदे

नमक का काम है खाने में स्वाद बढ़ाना क्योंकि बिना नमक के खाना बेस्वाद हो जाता है। इसलिए नमक को खाने में आवश्यक माना जाता है। आपने कई प्रकार के नमक के नाम सुने होंगे जैसे काला नमक, साधा नमक, समुद्री नमक(sea salt), Rock salt, लो-सोडियम साल्ट आप इन नमक के गुणों के बारे में तो जानते होंगे। लेकिन एप्सम नमक(Epsom Salt in Hindi) के बारे में कम ही सुना होगा। इसलिए आज आपको एप्सम सॉल्ट के बारे में बताएँगे और इसके फायदे क्या है।

और ये भी पढ़े:- धनिये का पानी पीने के फायदे

एप्सम सॉल्ट क्या है? | What is Epsom Salt?

uses of epsom salt

एप्सम सॉल्ट(Epsom Salt) को मैग्नीशियम सल्फेट के रूप में भी जाना जाता है। यह मैग्नीशियम, सल्फर और ऑक्सीजन से बना एक रासायनिक यौगिक है।

यह पहली बार इंग्लैंड में एप्सोम नामक शहर के पानी में खोजै गया था। यह कभी इंग्लैंड में सबसे लोकप्रिय औषधीय में से एक था।

एप्सोम सॉल्ट टेबल नमक की तुलना में पूरी तरह से अलग यौगिक है । इसकी रासायनिक संरचना के कारण इसे “नमक” कहा जाता था। यह table नमक के समान होता है लेकिन स्वाद में अलग होता है। ये स्वाद में काफी कड़वा और कठोर होता है।

कई वर्षों से, इस नमक का उपयोग बीमारियों के इलाज के लिए किया जाता है, जैसे कि कब्ज, अनिद्रा और फाइब्रोमाइल्जीया। अध्ययनों से पता चला है कि मैग्नीशियम और सल्फेट दोनों त्वचा द्वारा आसानी से अवशोषित हो जाती हैं, जिससे एप्सम नमक को स्नान करने में और इनसे संबंधित स्वास्थ्य लाभों के लिए उपयोग किया जाता है।

मैग्नीशियम शरीर में 325 से अधिक एंजाइमों की गतिविधि को नियमित करने में, सूजन को कम करने में, मांसपेशियों और तंत्रिका को कार्य करने में मदद करता है और धमनी को सख्त बनाने से रोकता है। सल्फेट्स पोषक तत्वों के अवशोषण(absorption of nutrients) को बेहतर तरीके से करता हैं, विषाक्त पदार्थों को बहार निकलता हैं, और माइग्रेन के सिरदर्द को कम करने में मदद करता हैं।

और ये भी पढ़े:- गर्म पानी पीने के चमत्कारी फायदे

एप्सम सॉल्ट के फायदे | Benefits and Uses of Epsom Salt in Hindi

एप्सम सॉल्ट के कई फायदे है जो इस प्रकार है –

वजन कम करने में | Epsom salt use for helps to reduce weight

Epsom salt for Weight Loss

आजकल की जीवनशैली के कारन लोग अपने आप को फिट नहीं रख पा रहे है। वजन बढ़ना आम समस्या होते जा रही है जिससे कई प्रकार की बीमारिया हो जाती है। इसलिए आप अपना वजन कम करना चाहते है तो आप एक ग्राम एप्सम सॉल्ट, आधी चम्मच सौंफ, एक चौथाई भाग हींग इनका मिश्रण मिला ले। इसको सुबह खाली पेट गर्म पानी के साथ लेने से वजन कम होगा साथ में पेट की चर्बी भी कम हो जायेगी।

और ये भी पढ़े:- वजन घटाने के आसान उपाय और नुस्खे(weight loss tips in hindi)

तनाव दूर करने में | Epsom Salt use for depression

Epsom Salt use for depression in Hindi

तनाव से आपके शरीर में मैग्नीशियम की कमी हो जाती है जिससे आपके सेरोटोनिन के लेवल में कमी आ सकती है। इस कारन आपको भूख कम लग सकती है और आपकी नींद को भी प्रभावित करता है। इसके लिए आप एप्सम नमक को गर्म पानी में मिलकर स्नान करने से आपके शरीर में सेरोटोनिन का उत्पादन करता है। जिससे आपका तनाव कम होगा और नींद अच्छी आएगी।

और ये भी पढ़े:- डिप्रेशन के लक्षण और इससे बचने के प्राकृतिक उपाय

दर्द और मांसपेशियों के ऐंठन में राहत के लिए

epsom salt benefits in hindi

एप्सम नमक के पानी से स्नान करने से शरीर के दर्द में आराम मिलता है। इसके लिए आप एक या दो कप नमक पानी के एक तब में घोल ले फिर काम से कम 20 मिनट के लिए खुद को भिगो कर रखे। मैग्नीशियम और अन्य यौगिक आपकी त्वचा में अवशोषित होते हैं और तनाव और सूजन के कारण होने वाले दर्द और दर्द से राहत देने में मदद करते हैं।

और ये भी पढ़े:- शरीर के जोड़ों और हड्डियों में दर्द के कारण लक्षण और उपचार

कब्ज के लिए और पाचन तंत्र में सुधार के लिए | Epsom Salt for Digestion System

Epsom Salt Benefits for Digestive disorder

भोजन का सही तरीके से नहीं पचने का कारण है कि हमारा पाचन तंत्र गड़बड़ है। और यदि पाचन तंत्र ख़राब हो गया तो विषाक्त पदार्थ बनने के कारण कई प्रकार की बीमारियों हो सकती हैं। जैसे की भूख नहीं लगना, खट्टी डकारे आना, गैस बनना, शरीर की स्फूर्ति कम होना है, कब्ज कब्ज होना आदि बीमारियाँ होने लगती हैं। एप्सम सॉल्ट में मौजूद मैग्नीशियम सेल्‍स detoxifying एजेंट के रूप में कार्य करता है। ये शरीर से हानिकारक तत्वों को बाहर निकलता जिससे पाचन तंत्र में सुधार होता है।

अध्ययन से पता चला है कि एप्सम नमक का उपयोग कब्ज के इलाज के लिए किया जा सकता है। एक गिलास पानी को आधी छोटी चम्मच अजवाइन के दाने डालकर उबाल लें। और इसमें एप्सम सॉल्ट और आधा नींबू निचोड़कर सुबह खाली पेट लेना चाइये। ऐसा करने से से पाचन तंत्र में सुधार होता है और कब्ज भी ठीक होती है। यह उपाय पेट की किसी भी प्रकार के रोग के लीये कारगार उपाय है।

ब्लड प्रेशर के लिए। Epsom salt Helps down in Blood pressure

Epsom salt in Blood pressure

हमारी जीवनशैली इतनी खराब हो गयी की ब्लड प्रेशर की समस्या आम हो गई है। एप्सम सॉल्ट में उपस्थित मैग्नीशियम धमनियों को साफ़ और सामान्य रखने में मदद करता है एवं मैग्नीशियम में ऐसे एंजाइम पाए जाते है जो तनाव को खत्म करते है। अगर आपको भी है लो ब्लड प्रेशर की प्रॉब्लम तो ये जरुर पढ़ें

दिमाग के लिए | Epsom salt is Good for the Mind

epsom salt Good for the Mind in hindi

एप्सम सॉल्ट(Epsom salt in hindi) का उपयोग करने से दिमाग स्वस्थ और अच्छा रहता है। इसमें दिमाग को सही करने और तनाव, चिंता और अवसाद को दूर करने के गुण होते है। क्योंकि एप्सोम नमक में मेग्नेशियम होता है जो सेरोटोनिन (खुशी या विश्राम हार्मोन) के लेवल को बढ़ाते है।

एप्सम सॉल्ट का पानी पीने के फायदे | Benefits Of Drinking Epsom Salt Water In Hindi

एप्सम सॉल्ट के फायदे (Epsom Salt ke fayde) बहुत अधिक हैं और साथ ही एप्सम सॉल्ट का पानी पीने के भी कई सारे फायदे हैं। इस नमक का पानी पिने से कब्ज से छुटकारा मिलता है। अगर आपको कब्ज है तो इस नमक का पानी का उपयोग करे। एप्सम सॉल्ट का अधिक मात्रा और अधिक समय तक पानी का सेवन करने से नुकसान हो सकते हैं जैसे कि कब्ज, दस्त आदि।

इस नमक का पानी का उपयोग करने के लिए एक गिलास पानी में एक चुटकी या थोड़ा सा नमक का उपयोग करें। अधिक मात्रा में नमक का प्रयोग करने से नुकसान हो सकता है। एप्सम सॉल्ट(Epsom Salt) के पानी शरीर को अंदर से साफ करता है। गर्म पानी पीने के चमत्कारी फायदे

और ये भी पढ़े:- गोखरू के फायदे और नुकसान

एप्सम सॉल्ट का उपयोग कैसे करें |How To Use Epsom Salt In Hindi

एप्सम सॉल्ट का उपयोग करने से पहले आपको इसके फायदे के बारे में मालूम होना चाहिए। क्योंकि इसके फायदे के बारे में पता होगा तो इस नमक का उपयोग अच्छे से कर पाओगे। एप्सम सॉल्ट का उपयोग कई प्रकार से किया जा सकता है। परन्तु ध्यान रहे अगर कोई व्यक्ति किसी बीमारी से लम्बे समय से ग्रसित है तो डॉक्टर से सलाह जरूर ले।

एप्सम सॉल्ट का उपयोग नहाने के लिए |Epsom Salt For Bathing In Hindi

एप्सम सॉल्ट का उपयोग नहाने के लिए भी किया जा सकता है। दिनभर की थकान से राहत पाने के लिए एप्सम सॉल्ट के पानी से नहाने से थकान और मासपेशियां में राहत मिलती है।

एप्सम सॉल्ट के पानी से नहाने के लिए बड़ा से टप पानी भरे और एक या दो चमच्च नमक की डाले। 15 से 20 मिनट तक इस नमक के पानी में बैठे और नहाये। इस पानी में गुलाब का तेल या चमेली का तेल भी मिला सकते है।

एप्सम सॉल्ट का उपयोग त्वचा के लिए | Use Sendha Namka For Skin In Hindi

एप्सम सॉल्ट का प्रयोग त्वचा के लिए भी कर सकते है। लेकिन त्वचा पर इस नमक का उपयोग करने से पहले चेक करे ले अगर आपकी त्वचा सेंसेटिव है तो। इसके लिए आप अपने हाथ पर थोड़ा सा एप्सम साल्ट लगाकर देखे की आपकी त्वचा पर कोई बुरा इफ़ेक्ट तो नहीं हुआ है।

अगर आपकी त्वचा पर कोई साइड इफ़ेक्ट नहीं हुआ तो आप इस नमक का उपयोग चेहरे साफ़ करने वाली क्रीम में मिक्स करके मसाज करे। इससे डेड सेल हटने में मदद मिलती है।

एप्सम सॉल्ट का उपयोग बालों के लिए | Epsom Salt For Hair In Hindi

एप्सम सॉल्ट के फायदे (Epsom Salt ke fayde) बालों के लिए भी बहुत सारे हैं। बालों के लिए एप्सम साल्ट का उपयोग करने के लिए अपने कंडीशनर में ये नमक मिला लें। ऐसा करने से बाल मजबूत बन सकते हैं।

एप्सम सॉल्ट का पानी पीने के लिए | Epsom Salt Water For Drinking In Hindi

पेट से संबंधित समस्या के लिए एप्सम साल्ट पानी में डालकर पीने से कब्ज से राहत मिल सकती है। इसके अलावा शरीर अंदर से साफ भी हो सकता है। एप्सम साल्ट का सेवन करते समय इसकी मात्रा का खास ध्यान रखें और सावधान रहें।

और ये भी पढ़े:- गिलोय के चमत्कारी फायदे

एप्सम सॉल्ट के नुकसान | Epsom Salt Side Effects In Hindi

एप्सम सॉल्ट के फायदे बहुत सारे हैं और यह फायदे आसानी से लिए जा सकते हैं। लेकिन आपको ये भी बता दें कि फायदे के साथ- साथ एप्सम साल्ट के नुकसान भी हैं। ये सही है अगर हम नामक की सही मात्रा का उपयोग नहीं करते है तो हमे नुकसान हो सकता हैं। इसलिए इसका उपयोग करने से पहले उपयोग करने के बारे में जानकारी जरुर प्राप्त कर लें। तो आइये जानते है एप्सम सॉल्ट के नुकसान(Epsom Salt Side Effects in Hindi) क्या है –

इस नमक का अधिक उपयोग करने से उल्टी, दस्त हो सकते है और डायरिया भी हो सकता है।

छोटे बच्चो को एप्सम साल्ट का उपयोग नहीं करना चाहिए।

गर्भवती महिलाओ का इस नमक का उपयोग करने से पहले डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।

डाइबिटीज और किडनी से सम्भंधित व्यक्तियों को एप्सम सॉल्ट का उपयोग नहीं करना चाहिए।

जिन व्यक्तियों में आयोडीन की कमी हो उन्हें एप्सम सॉल्ट की जगह आयोडीन नमक का उपयोग करना चाहिए।

और ये भी पढ़े

त्रिफला चूर्ण के फायदे | Triphala Churn Benefits in Hindi

तुलसी के उपयोग

Add Comment