नाभि चिकित्सा: नाभि खिसकने पर अपनाये ये आसान उपाय

नाभि खिसकने पर आप यहाँ कुछ आसान उपाय दिए गए है वो अपना सकते है- नाभि हमारे शरीर का केंद्र है और ये थोड़ी सी भी अपनी जगह से हट जाती है तो बीमारी पैदा कराती है। नाभि का खिसकने का मतलब है नाभि का डिगना या धरण होना। इसमें क्या होता है की नाभि अपनी जगह से थोड़ी खिसक जाती है। हमारी भारतीय संस्कृति सबसे अलग है और हिन्दू सभ्यता में स्वस्थ रहने के लिए और रोग को दूर करने में असानो और आयुर्वेद का बहुत अधिक महत्त्व है। नाभि चिकित्सा pdf

Also Read:- नाभि चिकित्सा: नाभी कुदरत की एक अद्भुत देन है

नाभि का खिसकना(Dharan Stomach) ऐसा विकार है जो ऐलोपैथी से ठीक नहीं हो पता है उसमे इसका कोई हल भी नहीं है। नाभि के खिसकने से कई बार पेट में दर्द होता जिससे डॉक्टर आपको पेनकिलर(painkiller) देता है जिससे एक बार आराम तो मिल जाता है पर solution नहीं होता है। नाभि के खिसकने से कई प्रकार की समस्या होती है जैसे पेट में दर्द, उल्टी, जी मिचलाना और कब्ज आदि होती है। अगर ये समस्या महिलाओ को पीरियड के समय हो तो ज्यादा ब्लड निकलता है।

नाभि-खिसकने के मुख्य कारण हैं:-(Dharan Stomach)

इसके बहुत से कारण हो सकते हैं जिनमे भूख न लगना, कभी शारीरिक कमजोरी,जरूरत से ज्यादा भार उठा लेने के कारन आदि। आपको बता दे की एक बार यह समस्या होने पर बार-बार भी हो सकती है। आइए जानें इसके मुख्य कारण ये है –

Also Read:- नींद संबंधी विकार और लक्षण क्या है?

नाभि खिसकने के लक्षण:- symptoms Dharan Stomach

  • भूख नहीं लगना।
  • पेट में हल्का-हल्का (मीठा-मीठा) दर्द रहता है।
  • दिन भर सुस्त रहना और जी-मिचलाना।
  • कभी कब्ज तो कभी दस्त लगना।

Also Read:-सुबह की सैर को सेहतमंद बनाने के कुछ टिप्स:(Morning Walk)

नाभि खिसकने की जांच कैसे करे:-

यदि आपको दिए हुए लक्षण हो तो आप नाभि खिसकने की जाँच कैसे करोगे। कुछ आसान तरीका है जाँच करने का सही तरीका- आप सबसे पहले जमीं पर लेट जाये और नाभि के आसपास अंगुली या अंगूठे से दबाकर देखे। यदि नाभि चक्र बिल्कुल सही जगह है तो धड़कन नाभि वाले स्थान के ठीक निचे महसूस होगी। यदि इस स्थान पर धकड़न महसूस नहीं होती है तो अंगुलियों से दबाकर आसपास चेक करेंगे तो ऎसी स्थिति में नाभि के ऊपर, नीचे, दाहिने अथवा बांई ओर धकड़न का अनुभव होगा।

ध्यान रहे नाभि खिसकने की जांच सुबह मल मूत्र त्याग करके खली पेट ही करे।

Also Read:-डिप्रेशन को पहचाने और ऐसे बचें डिप्रेशन से

नाभि खिसकने पर अपनाये ये आसान उपाय:-

नाभि को सही जगह लाने के आसान उपाय- हमें कुछ आसान उपायों से इस समस्या से आराम मिल सकता है। ध्यान रहे नाभि को खिसकने पर भारी वजन नहीं उठाना चाहिए।

मालिश के द्वारा

नाभि खिसकने पर कुछ लोग इसे मालिश के द्वारा ठीक करते है।

कूदने से

कूदने से भी नाभि अपनी जगह पर आ जाती है। पुराने समय नाभि को सही स्थान पर लाने के लिए कूदने की सलाह दी जाती थी इसमें 2 या 3 फिट की उचाई से कूदते है और तीन चार बार कूदे और कूदते समय ध्यान रहे अपना पूरा वजन पंजो पर रखे।

छींक लेने से

बार बार छींक लेने से भी नाभि अपने स्थान पर आ जाती है। इसके लिए आप धागे की बत्ती बनाकर नाक में प्रवेश करवाए इससे छींके आएगी।

योगासन द्वारा

कुछ आसनो से भी नाभि को ठीक कर सकते है- पश्चिमोत्तानासन, उत्तान-पादासन, धनुरासन, मत्स्यासन, भुजंगासन, कंधरासन,मकरासन आदि।

गुड़ और सौंफ

नाभि को जगह पर लाने के लिए लगातार तीन दिन 50 ग्राम गुड़ में 10 ग्राम सौंफ मिलकर सुबह खली पेट चबाकर खाये।

Also Read:-

खूबसूरत चमकती त्वचा चाहती हैं तो लीजिये ये 7 सेहतमंद आहार

health care: स्वस्थ रहने के लिए अच्छी आदतें

बालो की देखभाल कैसे करे

मोटापा कम के लिए क्या उपाय करे ?

Add Comment