ये लक्षण गले में कैंसर का इशारा करते है ,रहे सतर्क

गले के कैंसर के लक्षण(Gale ke Cancer ke Lakshan)- कैंसर(Cancer) एक खतरनाक बीमारी है ये बीमारी काफी सुनने में आ रही है। वैसे तो कैंसर कई प्रकार के होते है लेकिन मुँह और गले का कैंसर के मामले अधिक आते है और कुछ वर्षो इस कैंसर(Cancer) के रोगी अधिक बढ़े है। यदि इस बीमारी का इलाज समय पर नहीं किया जाये तो ये जानलेवा हो सकती है। आमतौर पर शुरआत में इसके लक्षण(Symptoms) सामने नहीं आते।

ये भी पढ़े:- What is Rotavirus

50 प्रतिशत मामलों में खराब जीवनशैली, तंबाकू और ओबेसिटी के कारण कैंसरCancer) हो रहा है। भारत में ब्रेस्ट या सर्वाइकल कैंसरCancer) से भी अधिक मौतें मुंह या गले के कैंसरCancer) की वजह से होती हैं। इसका सबसे मुख्या कारण तंबाकू सेवन और धूम्रपान की लत है। डॉ. कहते हैं कि यदि हमें इस खतरनाक बीमारी से बचना के लिए तंबाकू के सेवन से दूर रहना होगा। मुँह और गले का कैंसरCancer) महिलाओ के मुकाबले पुरुषो को अधिक होता है।

गले का कैंसर मुख्य रूप से दो प्रकार का होता है(Cancer Types) types of cancers– एक फेरनजील कैंसर और दूसरा लारेंजियल कैंसर(Cancer)। फेरनजील कैंसर ‘फेरनक्स में होता है। ‘फेरनक्स’ एक खोखली ट्यूब है जो आपकी नाक और मुंह के पिछले हिस्से से जहाँ गले का हिस्सा जिसमे टॉन्सिल होते है होती हुई दोनों को आहार नलिका (एसोफैगस) से जोड़ती है। लारेंजियल कैंसर लैरीनक्स (स्वरग्रंथिया वॉयस बॉक्स) में या फिर कह सकते है की खाने की नली और श्व्सननली के ठीक ऊपर होता है।

ये भी पढ़े:- एडीएचडी (ADHD) क्या है और इसके लक्षण क्या है

क्या है गले का कैंसर (थ्रोट कैंसर-Throat Cancer) Cancer Definition

इसमें असामान्य कोशिकाएं शरीर में दुगनी गति से फैलने लगती हैं और इन पर नियंत्रण मुश्किल हो जाता है। थ्रोट कैंसर(Throat Cancer) वॉयस बॉक्स, वोकल कॉर्ड और मुंह के अन्य हिस्सों जैसे टॉन्सिल्स(Tonsils) में भी हो सकता है। सबसे अच्छा है शरीर के प्रति सजग रहे जिससे आप कई समस्याएं से बच सकते हैं।

ये भी पढ़े:-प्रोस्टेट का घरेलु उपचार और परहेज

गले के कैंसर के लक्षण | Gale ke Cancer ke Lakshan | Symptoms of mouth cancer in hindi

 

गले में कैंसर के लक्षण

cancer symptoms

गले के कैंसर(Throat Cancer) के लक्षण(Symptoms) आमतौर पर शुरआत में सामने नहीं आते। यदि आपको इनमें से एक या अधिक लक्षण दिखें तो तुरंत डॉक्टर को दिखाएं
कैंसर की शुरुआत में रोगी में ऐसे लक्षण(Symptoms) देखने को मिलते हैं –how does cancer start

  1. खाना चबाने ,निगलने में या जीभ को हिलाने में दर्द का अनुभव होना।
  2. गले में जकडऩ और सांस लेने में समस्या होना।
  3. गले में खरास और सूजन होना।
  4. आवाज में बदलाव होना।
  5. गले में गांठें महसूस हों।
  6. कफ आना और खांसी में खून आना।
  7. गर्दन या कान में अकारण दर्द।
  8. लगातार थकान होना और नींद कम आना।
  9. लगातार बिना किसी कारण वजन कम(Weight loss) होना।
  10. सांस से दुर्गंध महसूस और सांस लेने में तकलीफ होना।
  11. मूसड़ों में सूजन या दांतों में दर्द।
  12. गले में गांठ या छाला होना और उसका ठीक न होना।

ये भी पढ़े:-हार्ट अटैक से बचने के उपाय

गले में कैंसर का मुख्य कारण –Cancer Causes

  1. ज्यादा धूम्रपान, शराब, और तंबाकू खाने से गले का कैंसर हो सकता है।
  2. पर्याप्त फल और सब्ज़ियां न खाना।
  3. इस कैंसर का एक प्रमुख कारण प्रदूषित वातावरण भी है। डस्‍ट(Dust), वुड डस्‍ट(Wood Dust), कैमिकल डस्‍ट(Chemical Dust) और रोड डस्‍ट(Road Dust) के कण के कारण भी कैंसर हो सकता है।
  4. दांतों की उचित देखभाल नहीं करने से या दांतों में होने वाली समस्या को टालने से भी भविष्य में यह समस्या हो सकती है।
  5. ह्यूमन पेपीलोमा वायरस(virus) का संक्रमण।
  6. एल्कोहल व निकोटीन का साथ सेवन करना।
  7. विटामिन B व D की कमी होना।
  8. सल्फर डाइऑक्साइड, क्रोमियम और आर्सेनिक भी कैंसर का खतरा बढ़ाते हैं।
  9. कैंसर आनुवंशिक भी हो सकता है।

ये भी पढ़े:-टॉन्सिल में संक्रमण चिंता की बात

गले का कैंसर का निदान(Cancer Treatment)

इसका निदान ये है की आप इनमें से कोई भी लक्षण दिखे तो चिकित्सा की सलाह जरूर लेनी चाहिए। क्योंकि ये गले का कैंसर(Cancer) भी हो सकता है। लेकिन इन लक्षणों में से कुछ वायरल संक्रमण या इन्फ्लूएंजा के लक्षणों के जैसे होते हैं। गले के कैंसर के लक्षणों की पहचान से भ्रमित होना आम बात है। लेकिन ये लक्षण अगर अधिक समय तक दिखते हैं, तो आपको चिकित्सा की सलाह लेने की आवश्यकता है। जिससे आपको गले के कैंसर के शीघ्र निदान और उपचार मिलाने से इलाज के लिए अधिक समय मिल सकता है।

ये भी पढ़े:-माइग्रेन से मिलेगा छुटकारा

गले के कैंसर से बचाव के लिए कुछ बातों का ध्यान रखे-

  • धूम्रपान न करें
  • शराब का सेवन कम करें
  • एक स्वस्थ जीवन शैली बनाए रखें
  • एचपीवी (HPV) का जोखिम कम करें
ये भी पढ़े:-
डैंड्रफ(रूसी) क्या है: घरेलु उपायों से मिलेगा डैंड्रफ(रूसी) से छुटकारा
जाने हार्ट अटैक आने के संकेत
सर दर्द को नहीं करे नजरअंदाज !
झड़ते बालों के लिए चमत्कारी उपाय

One Response

  1. Arun June 4, 2019

Add Comment