भौह फड़कना कैसा होता है

भौह का फड़कना(Bhoh ka Fadakna) -हर आदमी को अपना भविस्य जानने की उत्सुकता रहती है। और वो चाहता ही है की भविष्य पता कर सके। सामुद्रिक शास्त्र की सहायता से भविष्य का अनुमान तो लगा ही सकते है। हमारे शरीर के अंग फड़कना सामुद्रिक शास्त्र के अंदर ही आते है।

हमारे शरीर के हर अंग की अपने आप में अलग ही महत्व होता है। हमारे अलग अलग अंगो के फड़कने का कोई न कोई मतलब तो होता है। कुछ अंगो का फड़कना(Ango ka Fadakna) शुभ होता है और कुछ अंगो का फड़कना अशुभ होता है। इसलिए ये हमारे जीवन में होने वाले प्रभाव को बताते है।

और ये भी पढ़े:- ठुड्डी का फड़कना कैसा होता है ?

इस लेख में हम भौह का फड़कना(Bhoh ka Fadakna) कैसा होता है। इस अंग को कोनसा हिस्सा के फड़कने का अर्थ क्या होता है। ये हमारे जीवन में शुभ या अशुभ का संकेत देते है। आइये जानते है भौह फड़कने का मतलब(Bhoh ka Fadakna Matlab) क्या है-

भौह फड़कने का मतलब | Bhoh Fadakne ka Matlab

 

अंग फड़कने से आप अपने जीवन में आने वाले सुख दुख को जान सकते है। अंगो का फड़कना भविष्य के बारे में बहुत कुछ इशारा करते है। ये हमारे जीवन में घटने वाली घटनाओ के बारे में सूचित कर देता है।

भौह का फड़कना(Bhoh Fadakna) पुरुष और महिलाओ दोनों के लिए अलग अलग संकेत देता है। और भौह का दांया और बांया हिस्सों के फड़कने का मतलब भी अलग अलग होता है। आइये जानते है-

और ये भी पढ़े:-होंठ का फड़कना शुभ या अशुभ

महिला की बायीं भौह फड़कना | Mahila ki Bayi or Left Bhoh Fadakna

महिला की बायीं भौह फड़कना शुभ संकेत है। जिस महिला की बांयी भौह फड़कती है उसको खुशिया मिलने वाली है। ये शुभ समाचार के संकेत भी देता है। महिला की बायीं भौह फड़कना खुशिया आने का और शुभ समाचार मिलने का संकेत देता है।

महिला की दायीं भौह का फड़कना | Mahila Ki Dayi or Right Bhoh Fadakna

महिला की दायीं भौह का फड़कना शुभ नहीं माना जाता है। इसका मतलब है की आने वाले दिनों संकट आ सकता है। स्त्री की दांयी भौहे फड़कने का मतलब ही कोई न कोई संकट आने वाला है। समुद्र शास्त्र के अनुसार महिला को अपने इष्ट का ध्यान करना चाहिए।

और ये भी पढ़े:-नाक का फड़कना शुभ या अशुभ

पुरुष की बायीं भौह फड़कना | Purush ki Bai or Left Bhoh ka Fadakna

पुरुष की बायीं भौह फड़कना अशुभ होता है। ऐसा कहा जाता है की अगर पुरुष की बांयी भौह फड़कती है तो उसके साथ अशुभ होने वाला है। ये एक अच्छा संकेत नहीं है। अपने इष्ट का ध्यान करना चाहिए जिससे नकारात्मक प्रभाव काम हो।

पुरुष की दायीं भौह फड़कना | Purush Ki Dayi or Right Bhoh ka Fadakna

पुरुष की दायीं भौह फड़कना शुभ माना जाता है। जिस आदमी की दांयी भौह फड़कती है उसे लाभ मिल सकता है। मतलब उसको लाभ होने वाला है। समुद्रशास्त्र के अनुसार, पुरुष की दायीं भौंह का फड़कना लाभ की और इशारा करता है।

दोनों भौह का फड़कना | Dono Bhoh ka Fadakna

दोनों भौह का फड़कना बहुत ही शुभ माना जाता है। चाहे महिला हो या पुरुष जिस किसी की भी दोनों भौह फड़कती है इसका मतलब है की उसके लिए बहुत ही अच्छा संकेत है। इसका अर्थ है की उसकी सभी इच्छाये और मनोकामनाएं पूर्ण होने वाली है। दोनों भौह एक साथ फड़कना मनोकामना पूर्ण होने की और संकेत देता है।

दोनों भौह के बिच में फड़कना | Dono Bhoh ke Bich me Fadakna

भौह का बिच फड़कना भी एक अच्छा संकेत है। इसका मतलब है की जिसकी भौह फड़कती है उसको प्रेम की प्राप्ति होने वाली है। इसका अर्थ की उसको किसी से प्यार हो सकता है। यह इस बात की सूचना देता है कि आपकी जिंदगी में प्रेम की बरसात होने वाली है।

अगर आपको ये पोस्ट भौह का फड़कना(Bhoh ka Fadakna) पसंद आयी तो हमें कमेंट जरूर करके बताये। इस पोस्ट की जानकारी अपने दोस्तों के साथ भी जरूर शेयर करे।

और ये भी पढ़े

जाने दायीं आँख का फड़कना शुभ या अशुभ

जानिए बायीं आँख का फड़कना क्या संकेत देता है

Add Comment