Breaking News
Home / LIFESTYLE / मानसून में भूलकर भी ना खाएं ये सब्जियां वर्ना हो सकता है आपकी सेहत को नुकसान
मानसून में भूलकर भी ना खाएं ये सब्जियां वर्ना हो सकता है आपकी सेहत को नुकसान

मानसून में भूलकर भी ना खाएं ये सब्जियां वर्ना हो सकता है आपकी सेहत को नुकसान

मानसून के इस मौसम में एक तरफ जहां गर्मी से थोड़ी राहत मिलती है और मन में एक खुशी की लहर दौड़ जाती है वहीं दूसरी तरफ ये मौसम कई तरह की बीमारियों को न्योता भी देता है। वैसे तो हरी सब्जियां हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत ही लाभदायक होती हैं, लेकिन बारिश के मौसम में इनका असर उल्टा हो जाता है।

अंगूर खाने से दूर होती हैं कई गंभीर बीमारियां, जानें अंगूर खाने के फायदे

बरसात के मौसम में सब्जिवयों को धूप नहीं मिल पाने इनमें कीड़े-मकोड़ों की भरमार होती है। बारिश में मौसम में वैसे ही हमारा डाइजेशन सिस्टम कमजोर हो जाता है ऐसे में इन्हें खाना बीमारियों को न्यौता देने जैसा ही है। इसीलिए मानसून में स्वस्थ रहने के लिए जरूरी है कि आप कुछ खास सब्जियों और आहार के सेवन से बचें। तो आइये आज हम आपको इन्हीं सब्जियों के बारे में बताने जा रहे हैं जिनका सेवन आपको बरसात के मौसम में नहीं करना चाहिए।

शुगर को नियंत्रित करने में सहायक हैं नीम के पत्ते, डैंड्रफ से भी दिलाएं छुटकारा

बारिश के मौसम में नहीं खानी चाहिए ये हरी पत्तेदार सब्जियां-

जैसा कि आपको बताया गया है कि मानसून में हमारा पाचन तंत्र कमजोर हो जाता है तो इसीलिए इस मौसम में हमें अपने खानपान पर ज्यादा ध्यान देने की जरूरत होती है। बरसात के मौसम में ज्यादातर हरी पत्तेदार सब्जियों में कीड़े हो जाने की वजह से ये हमारे लिए काफी नुकसानदेह साबित हो सकती हैं।

कई बीमारियों से हमें बचाती है हरी मेथी जानें इसके फायदों के बारे में

पालक (Spinach)-
बरसात के मौसम में सब्जियों को पर्याप्त धूप ना मिल पाने की वजह से हरी पत्तेदार सब्जियों जैसे पालक आदि में छोटे-छोटे कीड़े और उनके अंडे हो जाते हैं। जिनका सेवन हानिकारक हो सकता है इसलिए मानसून में इसके सेवन से बचना चाहिए। अगर आप इन्हें खाना ही चाहते हैं तो इसको अच्छे से गुनगुने पानी में धोकर खाएं।

10 कारण जंक फूड आपके स्वास्थ्य के लिए खराब है

पत्तागोभी और फूलगोभी (Cabbage and Cauliflower)-
पत्तागोभी और फूलगोभी में भी पालक की तरह ही छोटे कीड़े और उनके अंडे हो सकते हैं जिसके सेवन करने से पेट खराब हो सकता है। इसलिए मानसून में इसके सेवन से परहेज करें। अगर आप इन्हें खाना ही चाहते हैं तो इसको अच्छे से गुनगुने पानी में धोकर खाएं।

धनिये का पानी पीने के फायदे

आलू (Potato)-
आलू को पचाने में भी हमारे पाचन तंत्र को काफी मशक्कत करनी पडती है इसीलिए बरसात में आलू खाने से भी बचना चाहिए।

आलू के औषधीय गुण जो करते है बहुत सी बीमारियों का इलाज

अरबी (Colocasia)-
अरबी भी आलू की तरह ही पचने में काफी समय लेती है और मानसून में इन्हें खाने से इन्फेक्शन होने का खतरा भी होता है। इसलिए मानसून में इनका सेवन करने से बचें।

भिंडी (Ladyfinger)-
वैसे तो भिंडी हमारे स्वास्थ्य के लिए काफी लाभदायक होती है लेकिन बरसात के मौसम में ये आसानी से नहीं पचती है और इससे इन्फेक्शन होने का खतरा बढ़ जाता है। इसीलिए बरसात में भिंडी खाने से भी बचना चाहिए।

गूलर के गुण और उससे होने वाले आयुर्वेदिक इलाज

मटर (Peas)-
बरसात में हरी मटर से भी इन्फेक्शन होने का खतरा है इसीलिए मटर खाने से भी परहेज करें।

मशरूम (Mushroom)-
मानसून में मशरूम का सेवन करने से भी बचना चाहिए। क्योंकि इस मौसम में मशरूम खाने से इंफेक्शन होने का खतरा अन्य मौसम के मुकाबले कहीं अधिक होता है।

कच्चा सलाद (Salad)-
ज्यादातर लोग खीरा और प्याज को सलाद के तौर पर काटकर खाना पसंद करते हैं लेकिन बरसात के मौसम में ऐसा करने से बचें। क्यूंकि इस मौसम में कच्चे सलाद में कई तरह के कीड़े होने का खतरा रहता है। लेकिन अगर आपको सलाद खाना है तो ध्यान रहे कि इसको स्टीम्ड करके ही खाएं।

अजवाइन है गुणों का खजाना,जानिए इसके 10 फायदे

जूस (Juice)-
इस मौसम में बाजार में बिकने वाले जूस से भी परहेज करें क्योंकि वह काफी देर पहले से फलों को काटकर रख लेते हैं जिससे उनमें बैक्टीरिया पैदा हो जाते हैं। इससे अच्छा है घर पर ही ताजा जूस निकालें और तुरंत इसका इस्तेमाल कर लें। ध्यान रहे कि फलों को कभी लंबे समय तक काट कर ना रखें। ऐसा करने से फलों की पौष्टिकता तो कम होती ही है साथ ही इनमें कई तरह के बैक्टीरिया भी आ जाते हैं।

गेहू के ज्वारे का रस अनेक रोगो की दवा

जानें कब है पानी पीने का सही समय, सही तरीके और इससे होने वाले लाभ(Pani Pine ke Fayde)

About admin

Check Also

Best Direction of Sleeping as Per Vastu

Best Direction of Sleeping as Per Vastu

Best Direction of Sleeping as Per Vastu- vastu is important for best sleep direction. Vastu …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *