जानिए बायीं आँख का फड़कना क्या संकेत देता है

बायीं आँख का फड़कना (Bai aankh phadakna)- हमारी आँखों की पलक कभी-कभी बिना किसी कारण के झपकती हैं। कभी-कभी यह दाईं आंख और कभी-कभी, बायीं आँख की पलक हो सकती है। जब ऐसा होता है, तो हमारी दादी या किसी अन्य बुजुर्ग व्यक्ति ने कहा होगा कि आँखों की पलक का फड़कना अच्छा या बुरा सगुन हो सकता है। तो, क्या ये सही है और कितनी सच्चाई है?

यह एक तथ्य है इसके पीछे कई वैज्ञानिक कारण मानते है, वही वहीं कुछ मनोगत कारण भी मानते हैं। ज्योतिष में ये सब सगुन के अध्ययन के तहत आती हैं। ज्योतिष की पूर्वी और पश्चिमी दोनों परंपराओं में, सगुन का अध्ययन एक विशिष्ट भाग है। प्राचीन काल से, लोगों ने माना है कि सगुन भविष्य की भविष्यवाणी कर सकता है और यह देवताओं के संदेश हैं। एक सगुन अच्छा या बुरा दोनों में से कोई भी हो सकता है। यदि एक काली बिल्ली आपके रास्ते को पार करती है, इसे व्यापक रूप से अधिकांश संस्कृतियों में एक बुरा सगुन माना जाता है।

इस तरीके से, भारत में हिंदू भी भविष्य की घटनाओं की भविष्यवाणी करने के लिए अपनी शक्ति को मानते हैं। इस प्रकार, आंखों को झपकाना या हिलाना एक शगुन के रूप में माना जाता है, और पुरुषों और महिलाओं के लिए इसकी व्याख्या अलग है। इसके अलावा, यह शुभ या अशुभ दोनों हो सकता है, यह इस बात पर निर्भर करता है कि कौन सी आंख फड़क रही है और किसके लिए। इस लेख में, हम देखेंगे कि क्या बाईं आंख की पलक फड़कना पुरुषों और महिलाओ के लिए अच्छी है।

Also Read:- Vastu Tips: रसोई वास्तु (vastu for kitchen)

पुरुषो के लिए बायीं आंख का फड़कना | Bai Aankh Phadakna for Male

आँखों का फड़कना पुरुषों और महिलाओं दोनों के लिए अलग-अलग अर्थ रखता है। भारतीय संस्कृति में वेद और शास्त्रों का बहुत महत्वपूर्ण स्थान है। शास्त्र में, हम न केवल आँखों के फड़कने का अर्थ रखते हैं, बल्कि शरीर के विभिन्न अंगों फड़कने का अलग अलग कारण होते हैं।

आधुनिक समय में टेक्नोलॉजी के कारन और पिछले कुछ दशकों में बहुत प्रगति की है। आज की पीढ़ी इन तथ्यों और धारणाओं को नहीं मानती है। अंग ज्योतिष के अनुसार हमारे शरीर के हर अंग के फड़कने का कोई न कोई अर्थ होता है। और यहां तक ​​कि आने वाली घटनाओं के बारे में भी जानकारी देते है। इसी प्रकार, आँखों का हिलना या झपकना या फड़कना भी एक शुभ और अशुभ अर्थ है।

आज हम बायीं आंख के फड़कने के बारे में जानेंगे की बायीं आंख का फड़कना पुरुषों के लिए अच्छा या बुरा है।

ज्योतिष और हमारे प्राचीन शास्त्रों के अनुसार बायीं आँख फड़कने का अर्थ

अगर हम समुद्र शास्त्र के बारे में बात करते हैं, तो वे पुरुषों के लिए दाहिनी आंख को शुभ मानते हैं। अक्सर यह कहा जाता है कि यदि किसी व्यक्ति की बायीं आंख फड़कती है तो इसका मतलब है कि उसकी सभी इच्छाएं पूरी होने वाली हैं, और उसे अपने कार्यस्थल और वित्तीय लाभ पर पदोन्नति मिलेगी। अगर पुरुषों की बायीं आंख की पलकें और भौंहें झपकती हैं, तो यह अशुभ माना जाता है। यह यह भी दर्शाता है कि एक पुराने दुश्मन के साथ लड़ाई हो सकती है, या शत्रुता में वृद्धि होगी।

यदि बायीं आंख का सबसे निचला भाग फड़कता है, तो आप किसी के सामने अपमान का सामना करना पड़ सकता है। और अगर बायीं आंख का ऊपरी हिस्सा (नाक के पास वाला) फड़कता है, तो संभावना है कि आने वाले समय में कुछ अशुभ होगा। अगर बाईं आंख का ऊपरी हिस्सा (कान के पास वाला) फड़कता है, तो संभावना है कि भविष्य में आपको स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं का सामना करना पड़ेगा।

यदि बायीं आंख का निचला भाग (मध्य भाग) फड़कता है, तो बहुत अधिक संभावना है कि आपको धन की हानि हो सकती हैं।

Also Read:- Vastu Tips : घर में लगाएं इन 6 ‘लकी एनिमल्स’ की तस्वीरें

महिलाओ के लिए बायीं आंख का फड़कना | Bai Aankh Phadakna for Female

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार महिलाओ का शरीर भी संकेत देता रहता है की आपके आपके जीवन में क्या अच्छा होने वाला है और कब बुरा होने वाला है। जिसमे महिलाओ के प्रत्येक अंगो का संकेत के रूप में इस्तेमाल होता है। महिलाओ की आँखे कई बार फड़कती है और इसका कारण क्या है ये जानने की जरूरत है। महिलाओ की बायीं आँख का फड़कना पुरषो से अलग होता है।

महिलाओ के लिए बायीं आँख फड़कने का क्या अर्थ है

महिलाओ की बायीं आँख का फड़कना उनके जीवन में शुभ संकेत है।

यदि बायीं आंख सभी दिशाओं में फड़क रही है तो इसका मतलब है कि अगर आप कुंवारी हैं, तो आपकी शादी के योग जल्द ही बनने वाला हैं।

अगर महिलाओ की बायीं आँख के नाक के पास वाला हिस्सा फड़कता है तो इसका अर्थ है की ये शुभ संकेत है। इसका मतलब है की पुत्र प्राप्ति हो सकता है।

चीनी ज्योतिष के अनुसार बायीं आँख का फड़कना | bai aankh phadakna

पुरानी चीनी कहावत के अनुसार, बाईं आंख का फड़कना शुभ माना जाता है और दाहिनी आंख का फड़कने पर अक्सर कहा जाता है कि बुरी किस्मत साथ है। महिलाओं के लिए, इसके विपरीत है। बाईं आंख के नीचे की पलक के फड़कने का मतलब है कि आप शोक करने वाले हैं या कोई व्यक्ति आपके बारे में अफवाह फैला रहा है।

अफ्रीकी ज्योतिष के अनुसार बायीं आँख का फड़कना

अफ्रीका के कुछ हिस्सों में, यह माना जाता है कि जब निचली पलक फड़कती है, तो इसका मतलब है कि आप रोने वाले हैं, और अगर ऊपरी पलक फड़कती है, तो आप किसी से अचानक मिलने वाले हैं।

आँख फड़कने के पीछे वैज्ञानिक कारण

आँखों का फड़कना एक सामान्य लक्षण है। लेकिन यह किसी भी तरह का विकार या स्वास्थ्य समस्या नहीं है। जब आप आँखों को थोड़ी देर आराम देते है तो आमतौर पर कुछ समय के बाद रुक जाती है। हालाँकि, कोई ऐसा कोई स्पष्ट कारन नहीं है कि वास्तव में क्या कारण है। इसके मुख्या कारन हो सकते है-

  • थकान
  • नींद की कमी
  • कैफीन का अत्यधिक उपयोग
  • कम रोशनी में काम करना
  • कंप्यूटर पर देर से काम करें

आँखे क्यों फड़कती है

  • जब आप अधिक तनाव में होते है तो इसका असर आपकी आंखों पर पड़ता है, क्योंकि हमारा शरीर में अधिक तनाव के कारण विभिन्न प्रकार के बदलाव होते है।
  • यदि आप पर्याप्त नींद नहीं ले रहे हैं, तो आपकी आँखों का फड़कने का एक सामान्य कारन ये भी हो सकता है। क्योंकि अगर हमारा शरीर थका हुआ रहे, और उसे आराम नहीं मिले, तो अपने शरीर में विभिन्न प्रकार के बदलाव हो सकते है।
  • अगर आपको अधिक मात्रा में चाय या कॉफी का सेवन करने की आदत है, तो आपके शरीर में कैल्शियम की मात्रा बढ़ जाती है और इसी कारण हमारी आंखें फड़कने लगती हैं। अगर आपकी आंखों में आंसू आ रहे हैं, तो आपको एक दो सप्ताह के लिए चाय और कॉफी पीना बंद कर देना चाहिए।
  • अगर आपके भोजन में पोषक तत्वों की कमी है, तो इससे आपकी आँखें भी फड़क सकती हैं, इसलिए आपको अच्छे पोषक तत्वों का सेवन करना चाहिए।

आँखों के फड़कने का उपाय | Aankh Fadakne ka Upay

आमतौर पर, महिला और पुरुषो की दोनों आँखों में से कोई सी भी आँख फड़कती है, तो उनको निम्नलिखित घरेलू उपचार करना चाहिए। ये उपाय अपनाकर अपनी आंखों की कमजोरी से बच सकते हैं।

  • अगर आपकी आंख फड़क रही है, तो इसका मतलब ये भी हो सकता है कि आपकी आंखें थक गई हो और उन्हें आराम की जरूरत हो। इसके लिए आप रोजाना 8 घंटे जरूर सोये, हो सके तो आप कम से कम 6 घंटे सो सकते हैं। यदि आप 6 घंटे से कम सोते है, तो आपके लिए अपनी आंखों का फड़कने का कारण ये हो सकता है।
  • यदि पुरुष या महिला दोनों में से किसी की भी आंख फड़क रही है, तो आपको तुरंत पलकों झपकाना शुरू कर देना चाहिए। इसके बाद अपनी आंखों को इस तरह से खोलना चाहिए कि वह पूरी खोले जितना हो सके। आंखें खुली रखे और कुछ देर बाद आपकी आँखों में पानी आने लगेगा। अगर इस प्रक्रिया को करते समय आपकी आँखों में दर्द हो रहा है, तो आपको इस प्रक्रिया को तुरंत रोक दे। कुछ ही सेकंड में, आपकी आँखें ठीक हो जाएंगी।
  • अगर आंख बहुत ज्यादा फड़क रही है, तो आपको अपने हाथों की मध्यमा उंगली से 30 सेकंड के लिए गोल आकार में आंखों के नीचे मालिश करे। ऐसा करने से आपकी आंखों की मांसपेशियां मजबूत बनती हैं और आंखें फड़कना बंद हो जाती हैं।
  • 2 मिनट के लिए आंखों को बंद करे और फिर इसे ढीला छोड़ दें। ऐसा शाम को तीन से चार बार करना है, इससे आपकी आँखों का फड़कना बंद हो जाएगा।
  • यदि आप आँखों के फड़कने से परेशान है तो आपको 30 सेकंड के लिए पलकें झपकानी चाहिए। यह आपकी मांसपेशियों को आराम देती है।

इस लेख में आपने जाना है की बायीं आँख का फड़कना(Bai Aankh Phadakna) शुभ या अशुभ होता है, बायीं आँख का फड़कना क्या संकेत देता है और हमारी आँखे क्यों फड़कती है। इसके अलावा महिलाओ और पुरुषो के लिए बायीं आंख का फड़कना के संकेत क्या है। तो आप हमें कमैंट्स करके बता सकते है की ये जानकारी आपके लिए उपयोगी है या नही।

और ये भी पढ़े-

जानिए योग निद्रासन के फायदे, विधि और सावधानी

आइये जानते है रसोई में छुपे बिना फीस वाले डॉक्टर को

Add Comment