अजवाइन के फायदे | Ajwain Benefits in Hindi

अजवाइन औषधीय गुणों का भंडार है यह रसोईघर के अलावा आयुर्वेद में भी इसका खूब इस्तेमाल किया जाता है। किचन के प्रमुख मसालों में अजवाइन भी एक है। स्वाद में ये तीखा होता है। यह गरम व पित्तवर्धक होती है। अजवाइन स्वाद बढ़ाने के अलावा यह आपके हाजमे को भी ठीक रखती है और कई बीमारियों में भी उपयोगी है। सब्जियों में तड़का लगाने, परांठे और अचार में स्वाद लाने के लिए अजवाइन उपयोग बहुत किया जाता है।

अजवाइन एक ऐसा मसाला है जिसके बिना भारतीय रसोई अधूरी है। वैसे ये स्वाद में तीखी और कड़वी होती है और पाचन गुणों के कारन कई सब्जियों में डाली जाती है। अजवाइन में एंटीऑक्सिडेंट, एंटीहाइपरटेन्सिव, एंटीमाइक्रोबियल, हाइपोलिपिडेमिक और कई अन्य गुण होते हैं। इसके तेल का मुख्या घटक थाइमोल है, जो जठरांत्र संबंधी बीमारियों में लाभकारी है। बीज में मौजूद थायमोल रक्तचाप के स्तर को नियंत्रित करता है । बीज सूजन से लड़ने में भी मदद करते हैं।

और ये भी पढ़े:-अंजीर खाने के फायदे

अजवाइन के फायदे | Ajwain Benefits in Hindi

अजवाइन भले ही देखने में छोटी हो लेकि इसमें कैल्शियम, फॉस्फोरस, आयरन, सोडियम व पोटैशियम जैसे पोषक तत्वों से भरपूर है। इसके आयुर्वेद में कई औषधीय गुण भी बताए गए हैं। यह दादी-नानी के नुस्खों में भी अजवाइन हमेशा से सर्वोपरि रही है।

तो आइये जानें, अजवाइन के कुछ खास औषधीय गुणों के बारे में-

1.पेट संबंधी समस्या में :-

एसिडिटी और अपच जैसी बीमारियों में अजवाइन जादू की तरह काम करता है । यह अन्य सभी सबसे महत्वपूर्ण स्वास्थ्य लाभों में से एक है। जब ये आप नियमित रूप से लेते हो, तो आपका पेट सही रहता हैं, लेकिन जब आप पाचन समस्याओं से पीड़ित होते हैं, तो आप जरूर अजवाइन का उपयोग करे। जब आपक पेट साफ और सही रहेगा तो आपकी दिनचर्या भी अच्छी बनी रहेगी।

यदि किसी को पेट संबंधी समस्या रहती हो, तो आप अजवाइन को घर में पीसकर पाउडर के रूप में रख ले। जब आपको लगे कि आपने कुछ ज्यादा या ऑयली चीजें खा ली हैं, तो थोड़ी सी अजवाइन को काले नमक या चीनी के साथ धीरे-धीरे चबाएं।

अगर पेट में किसी कारण से दर्द हो, तो अजवाइन को दो या तीन चुटकी नमक डाल कर गुनगुने पानी के साथ ले सकते हैं।

और ये भी पढ़े:-अश्वगन्धा | Ashwagandha Benefits in Hindi

इस्तेमाल करने का तरीका

आप एक चम्मच जीरा को एक चम्मच अजवाइन और आधा चम्मच अदरक पाउडर के साथ मिलाकर इसे एक गिलास गर्म पानी के साथ पी सकते हैं। आपको तुरंत राहत मिलेगी। यह पेट की जलन को कम करने के साथ पेट की समस्या से छूटकर दिलाता है।

और ये भी पढ़े:-रोज सुबह अंकुरित चने खाने के बहुत सारे फायदे

2.माइग्रेन से सिर में दर्द

माइग्रेन के इलाज के लिए अजवाइन एक बहुत ही अच्छा घरेलू उपाय होता हैं। माइग्रेन से सिर के आधे हिस्से में असहनीय दर्द होता है, इस स्थिति से मतली, उल्टी और अन्य लक्षण हो सकते हैं। माइग्रेन से सिर में दर्द(कॉमन कोल्ड) हो, तो अजवायन को पोटली में बांधकर बार-बार सूंघें। माइग्रेन से मिलेगा छुटकारा माइग्रेन के सिरदर्द को कम करने के लिए यह एक उपयोगी उपाय है।

3.वायु विकार में

आधा चम्मच अजवाइन में एक चुटकी खाने वाला सोडा और दो काली मिर्च मिलाकर भोजन के बाद पानी के साथ लेने से वायु विकार दूर होता है।

4.सूखी खांसी में

सूखी खांसी हों, तो अजवाइन को चबाने के बाद ऊपर से गर्म पानी पिएं।

5.कान और दांतों के दर्द में

एक कान के दर्द के लिए, आपको सीधे तेल का उपयोग करना होगा। बस तेल की दो बूंदें कान में डालें।

दांतों में दर्द हो, तो अजवाइन को पानी में डालकर कुछ देर उबालें। इस पानी से दिन में दो या तीन बार गार्गल (गरारा) करें।

और ये भी पढ़े:-कान का मोम (मैल) निकालने के घरेलू उपाय

6.गले की सूजन में-

गले में सूजन हो तो आधा चम्मच शहद में 5-6 बूंद अजवाइन का तेल मिलाकर दिन में 3-4 बार चाटें। इसके अलावा आप अजवाइन का चूर्ण लेकर और नमक मिले गुनगुने जल में घोल कर उससे गरारे करें। गले की सूजन में लाभ होगा। ajwain ke fayde

7.वजन कम करने में

वजन कम करने के लिए एक चम्मच अजवाइन को रात में एक गिलास पानी में भिगो दें। सुबह होने पर पानी को छान ले और शहद में मिलाकर पिने से वजन कम होता है।

और ये भी पढ़े:- मोटापा कम करने के लिए अलसी के बीजो का सेवन ऐसे करे

8.अजीर्ण (अपच) , वमन (उल्टी), और थकान में

देशी खांड में अजवाइन के तेल की 5-6 बूंदें डालकर खाने से इन सभी रोगो मे लाभ होता है।

9.भूख लगाने में

अगर किसी को भूख काम लगाती है तो एक चम्मच पिसी अजवाइन को गुनगुने पानी के साथ खाने से भूख लगती है।अजवाइन भूख बढ़ाने का काम करती है।(ajwain water benefits in hindi)

अजवाइन को गुड़ में मिलाकर सेवन करने से पित्त से छुटकारा मिलता है। प्रसूति स्त्रियों को अजवाइन व गुड़ मिलाकर देने से भूख बढ़ती है।

और ये भी पढ़े:-नारियल तेल के बहुत सारे फायदे (Coconut Oil Benefits)

10.बचो की सर्दी और जुकाम में

बचो को सर्दी और जुकाम होने पर अजवाइन का बफारा देने से छुटकारा मिलता है।

11.सर्दी का इलाज

अजवाइन के बीज बंद नाक को खोलने, ठंडे लक्षणों को ठीक करने और साईनस के कारण आये तनाव में राहत देता है। इसका उपयोग बलगम को आसानी से ख़त्म करने में भी मदद करता है।

कैसे इस्तेमाल करें

सर्दी से पीड़ित होने पर, अजवाइन के बीज और गुड़ का पेस्ट बनाएं , दोनों को बराबर मात्रा में मिलाकर हल्की आंच पर गर्म करें। आप इस पेस्ट में थोड़ा सा अदरक का पाउडर भी मिला सकते हैं, इससे आपको रहा मिलेगी। जब तक आप बेहतर न हों तब तक दिन में दो बार दो चम्मच पेस्ट का सेवन करें। यह पेस्ट सांस की समस्याओं को भी ठीक करता है। यदि आपको खांसी है, तो आपको अजवाइन के बीज को पानी में उबालना चाहिए या फिर चाय में डालकर भी ले सकते है।

पतले कपडा या रूमाल ले और अजवाइन को तवे पर गर्म करके कपडे में पोटली बना ले। अजवाइन को पोटली में बांधकर बार-बार सूंघें ये सिर दर्द या छाती और नाक से राहत के लिए करें।

और ये भी पढ़े:-जानें आपकी दिनचर्या कैसी होनी चाहिए-Daily Routine in Hindi

12.बालों को जल्दी सफ़ेद होने से रोकता है

बालों के लिए अजवाईन के फ़ायदे बहुत हैं और बालों को सफ़ेद होने से रोकने में इसकी महत्वपूर्ण भूमिका है। यदि आप कुछ अजवाइन बीज का उपयोग करते हैं, तो आप इससे छुटकारा पा सकते हैं। दो या तीन करी पत्ते, कुछ सूखे अंगूर, अजवाइन के बीज और स्वाद के लिए चीनी लें। इन सभी को एक कप पानी में भिगोकर अच्छी तरह से पकाएं। स्वाद के लिए चीनी मिलाएं। इस मिश्रण को हर दिन पियें और आप एक महीने में भूरे और सफ़ेद बालों से छुटकारा पा सकेंगे।

और ये भी पढ़े:-सफ़ेद बालों की समस्या को दूर करने के घरेलु टिप्स| घरेलू नुस्खे

13.आँखें को साफ करने में

आपके शरीर के हर एक हिस्से का ध्यान रखना जरूरी है, जिसमें आपकी आंखें भी शामिल हैं। रोज सुबह उठते हैं, तो आपको इसे साफ करना चाहिए। साधारण पानी का उपयोग करना बहुत अच्छा है लेकिन इसे बेहतर बनाने के लिए पानी में कुछ अजवाइन के बीज उबालें और इसके ठंडा होने का इंतज़ार करें। अब इस पानी से अपनी आँखें अच्छी तरह से धो लें। आपकी आंखें साफ, ताजा और स्वस्थ होंगी।

और ये भी पढ़े:- Eye Health Tips in Hindi | कैसे रखें अपनी आंखों को स्वस्थ

14.भोजन का स्वाद बढ़ाता है

खाना बनाते समय आप अजवाइन के बीजो का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। भारत में मसाले के रूप में इसका बड़े पैमाने पर उपयोग किया जाता रहा है। इस घटक का उपयोग बिस्कुट, नमकीन, सूप, शीतल पेय, अचार और अन्य भारतीय खाद्य व्यंजन बनाते समय भी किया गया है। यह मुख्य रूप से पाचन के लिए अच्छा है और खाना पकाने के दौरान आप इसे उपयोग कर सकते हैं। खाने इन बीजों को मिलाकर भोजन के स्वाद और गुणवत्ता को बढ़ाया जा सकता है।

15.मुँहासे और फुंसियों में

अजवायन के सभी लाभों में से सौंदर्य लाभ भी है ये मुंहासों को कम करने में फायदेमंद है। अजवाईन के बीज में प्राकृतिक एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटी-ऑक्सीडेंट गुण होते हैं, जो लालिमा और सूजन को रोक सकते हैं। आप अजवायन को गर्म पानी के साथ पेस्ट बनाकर इसे 10-15 दिनों के लिए प्रभावित क्षेत्र पर लगाए जिससे त्वचा साफ हो सके।

16.लीवर के लिए

अजवाइन का एक चमत्कारी लाभ लिवर के लिए भी है। उन लोगों के लिए जो लिवर की खराबी से पीड़ित हैं। अजवाईन और पानी से तैयार अजवाईन की चाय लेने से लिवर से टॉक्सिन्स बाहर निकलते हैं और इसके उचित कार्य को सुनिश्चित कर सकते हैं। यह नियमित उपयोग के साथ कई प्रकार लिवर की बीमारियों को भी रोकता है।

17. घावों की सफाई के लिए

अजवाइन के बीजो में थाइमोल पाया जाता है जो कीटाणुनाशक के रूप में कार्य करता है। इसलिए संक्रमण या घावों के लिए अजवाइन बीजों को पीसकर त्वचा पर लगाया जाता है। तो आप अगली बार जब आपको किसी प्रकार की चोट लगती है या घाव है तो इस तरह प्रयोग करे।

18. मच्छर को भागने में

यदि आपका बाजार से खरीदा हुआ मच्छर मारने/भगाने में सक्षम नहीं रहता है, तो आप इसका उपयोग घर पर बना कर सकते हैं।

सरसों के तेल में अजवाईन के बीजों को मिलाकर इसको कार्डबोर्ड के टुकड़ों पर लगाएं। जिसे आप मच्छरों को भगाने के लिए अपने कमरे के कोनों में लटका सकते हैं। इसके उपयोग से मच्छर भाग जायेंगे। यह आपके घर को खुशबु से भर देगा।

19. गठिया के दर्द में

अजवाइन के बीजो में गठिया से लड़ने के लिए दो गुण पाए जाते है। इसमें एक तो एंटीबायोटिक गुण होता है जो त्वचा की लालिमा और सूजन को ठीक करता है। दूसरा anaesthetic गुण होता है जो दर्द और सूजन को काम करता है।

घरेलु उपाय के रूप में आप अजवाइन के बीजो को पीस कर पेस्ट बना ले और जोड़ो पर लगाए। या फिर आप गर्म पानी के टब में इसको भिगो दे और फिर काम में ले।

अजवाइन के नुकसान – Ajwain ke nuksan

हालांकि अजवाइन अपने कई स्वास्थ्य लाभों के लिए जाना जाता है,लेकिन फिर भी अजवाइन के कुछ नुकसान है-

  • जी मिचलाना
  • उल्टी होना
  • सरदर्द होना
  • चकत्ते
  • मुंह में जलन होना

अजवाइन चाय | Ajwain tea in hindi | Ajwain Water Benefits in Hindi

अजवाइन चाय | Ajwain tea in hindi

अजवाइन चाय तीखी गंध के लिए जानी जाती है। Ajwain Tea कोल्ड ट्रीटमेंट के लिए लाभदायक है । Ajwain सभी मौसमों में उपयोग की जाती है। वैसे यह बारिश और सर्दियों के मौसम में ज्यादा उपयोगी रहती है। अजवाईन के बीज मैक्रो पोषक तत्वों और सूक्ष्म पोषक तत्वों दोनों से भरपूर होते हैं। इसका उपयोग पाचन समस्याओं, गैसीय समस्याओं, एंटीसेप्टिक, एंटीपीयरेटिक और एक्सपेक्टोरेंट के मामले में किया जाता है।

अजवाइन चाय कैसे बनाये

  • आप डेढ़ कप पानी लें
  • एक चम्मच काली या हरी चाय मिलाएं।
  • इस थोड़ी देर उबलने के बाद, थोड़ी सी अजवाइन डाले।
  • आप स्वाद बढ़ाने के लिए इसमें इलायची और अदरक भी मिला सकते है। चीनी के साथ दूध भी डाला जा सकता है।
  • अदरक या इलाइची के साथ सेवन से इसके औषधीय लाभ बढ़ जाते हैं।

धनिये का पानी पीने के फायदे

अजवाइन के पराठे कैसे बनाये? | Ajwain Paratha Recipe in Hindi

Ajwain Paratha Recipe in Hindi

आयुर्वेदिक दृष्टिकोण से अजवाइन के पराठे स्वास्थ्य के लिए अच्छा है। इसका स्वाद तब और बढ़ जाता है जब इसे अचार, चटनी और दही के साथ खाया जाता है।

अजवाइन के पराठे के लिए सामग्री

  • 3 कप आटा
  • पीसी हुई अजवाइन 3 चम्मच
  • 1/2 चम्मच हल्दी पाउडर
  • 1/2 चम्मच मिर्च पाउडर
  • गरम पानी
  • वनस्पति तेल के 4 चम्मच
  • बेसन का भी इस्तेमाल किया जा सकता है
  • 1/4 कप दही
  • स्वाद के अनुसार नमक

अजवाइन का पराठा कैसे तैयार करें?

गेहूं के आटे को एक साफ बर्तन में लें। इसे गर्म पानी के साथ गुंथे तथा इसमें ऊपर दी गयी सभी सामग्री के साथ गुंथे जिससे सभी आसानी से आते में मिल जाये और पराठा तैयार हो जाए। नमकीन और स्वादिष्ट रोटी बनाने से पहले 15-20 मिनट के लिए आटा छोड़ दें। अब रोटी बनाकर सेंक ले। या तवे पर भी तेल या घी के साथ पराठे बना ले।

मुझे आशा है की आप इन चमत्कारी अजवाइन के फायदों | ajwain benefits in hindi को पढ़कर डॉक्टरों को चक्कर काटना बंद कर दोगे। अजवाईन का उपयोग कर बेहतर स्वास्थ्य का आनंद ले।

गेहू के ज्वारे का रस अनेक रोगो की दवा

आंवले का उपयोग, तुलसी के उपयोग

Add Comment