Home / Uncategorized / त्रिफला के फायदे और कैसे ले

त्रिफला के फायदे और कैसे ले

www.ourhealthtips.in

त्रिफला क्या है ?
ये तीन अलग अलग फेलो के सूखे पावडर से बना है -आंवला, बहेड़ा और हरड़ इन तीनो का मिश्रण है इन तीनो फलो के बीज निकालकर चूर्ण बनाकर तीनो का समान मिश्रण बनाया जाता है ये बना हुआ मिश्रण ही त्रिफला है ।

त्रिफला का उपयोग :-
आयुर्वेद में त्रिफला चूर्ण को हमारे शरीर के लिए बहुत ही गुणकारी माना गया है। मुख्य रूप से लोग त्रिफला को कब्ज निवारक के रूप में ही जानते हैं. लेकिन इसके अलावा भी इसका सेवन करने के बहुत फायदे हैं। यदि आपको किसी भी प्रकार की पेट से संबंधी समस्या है तो आपके लिए त्रिफला चूर्ण का सेवन बहुत ही फायदे मंद हो सकता है। पेट के अलावा भी इसे खाने से कई रोगों में राहत मिलती है. चिकित्सकों की यह भी सलाह होती है कि त्रिफला का सेवन बिना चिकित्सीय परामर्श के नहीं करना चाहिए। कई बार त्रिफला की अधिक मात्रा नुकसान भी दे सकती है।

आंखों के लिए :- त्रिफला आँखों के लिए एक चमत्कारी उपाय है , एक चम्मच त्रिफला चूर्ण रात को एक कटोरी पानी में भिगोकर रखें। सुबह कपड़े से छानकर उस पानी से आंखें धो लें। यह प्रयोग आंखों के लिए अत्यंत हितकर है। इसके उपयोग से आंखे साफ और आँखों से चश्मा भी उतर जाता है। आंखों की जलन, लालिमा आदि तकलीफें दूर होती हैं।
लंबे समय तक आखों की रोशनी को बढ़ाए रखने के लिए 10 ग्राम गाय के घी में एक चम्मच त्रिफला चूर्ण और पांच ग्राम शहद को मिलाकर सेवन करें ।
सिर दर्द के लिए :-
त्रिफला का चूर्ण सर दर्द में भी फायदे मंद होता है इसके लिए आप त्रिफला, हल्दी, चिरायता, नीम के अंदर की छाल और गिलोय को मिला ले और इस मिश्रण को 1/2 लीटर पानी में उबाले। ध्यान रहे इसे 1/4 लीटर रहने तक उबालते रहें। अब इसे छानकर कुछ दिन तक सुबह व शाम के समय गुड़ या शक्कर के साथ सेवन करने से सिर दर्द कि समस्या दूर हो जाएगी ।
मुख की दुर्गंध :-
त्रिफला रात को पानी में भिगोकर रखें। इसे रात भर भिगो रहने दे। सुबह मंजन करने के बाद यह पानी मुंह में भरकर रखें। थोड़ी देर बाद निकाल दें। इससे दांत व मसूड़े वृद्धावस्था तक मजबूत रहते हैं। इससे अरुचि, मुख की दुर्गंध व मुंह के छाले नष्ट होते हैं।
चर्म रोग दूर करें:-
त्रिफला का चूर्ण चार्म रोगो में भी फायदा करता, चर्म रोग जैसे दाद, खाज, खुजली, फोड़े-फुन्सी की समस्या में सुबह-शाम 6 से 8 ग्राम त्रिफला चूर्ण खाने से फायदा होता है।
अगर आपके कोई रोग नहीं है तो भी आप त्रिफला के चूर्ण का उपयोग कर सकते है । त्रिफला को आधे ग्राम से पंद्रह ग्राम तक रोज सुबह दूध या पानी के साथ ले । इसे आप एक वर्ष तक ले तो किसी प्रकार की बीमारी आपको नहीं होगी ।

About admin

Check Also

शीर्षासन की विधि और फायदे

शीर्षासन क्या है? इस आसन में सिर के बल खड़े होकर पुरे शरीर का संतुलन …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *