डैंड्रफ(रूसी) क्या है: घरेलु उपायों से मिलेगा डैंड्रफ(रूसी) से छुटकारा

आजकल अधिकतर लोगो को रूसी की समस्या है और रूसी की वजह से हमारे बालो पर बहुत बुरा असर पड़ता है। डैंड्रफ आम समस्या हो गयी है इसकी वजह से सर में खुजली और एक परत बन जाती है और ये परत एक पपड़ी की तरह उतरती है जिसे रुसी या डेंड्रफ कहते है। मौसम बदलने की वजह से भी हमारे बालो मे रूसी की समस्या देखी जाती है। बालो का कमजोर होना, बालो का झड़ना, सर में खुजली होना और अन्य कई प्रकार की समस्या होती है।

सर दर्द को नहीं करे नजरअंदाज !

डैंड्रफ कैसे पहचाने:-

सिर में खुजली होती है और बालो से सफ़ेद छोटे छोटे कण गिरते है। बालो और कंघी करने पर परत या मृत कोशिकाओं के सफ़ेद कण दिखाई देते है। सर्दियों के दोहरान रुसी ज्यादा बढ़ती है।रूसी की वजह से बाल झड़ने लग जाते है और गंजपन का खतरा भी हो सकता है।

 

डेंड्रफ के कारण:-

मौसम के कारण:- 

रूसी कई बार बरसात के मौसम में ज्यादा होती है क्योंकि बरसात के मौसम में बाल अधिकतर नम रहते है या फिर बरसात का पानी सर में जाता है तो इसकी वजह से डेंड्रफ का खतरा ज्यादा होता है। वैसे बरसात के अलावा सर्दियों में भी रूसी का खतरा ज्यादा होता है। सर्दियों में गर्म पानी का इस्तेमाल करते है जिससे सर में रूखापन आ जाता है और रुसी का खतरा बढ़ जाता है। सर्दियों में हम हमारे सर को कवर रखते है बालो को पर्याप्त हवा नहीं मिल पति और रूसी का होने की संभावना बढ़ जाती है।

तनाव के कारण:-

तनाव के कारण भी डैंड्रफ के समस्या ज्यादा होती है।इसकी तरफ कोई ध्यान नहीं दे पता इसलिए तनाव से बचना चाहिए।

हेयर प्रोडक्ट्स के कारण:- 

आजकल हम हेयर प्रोडक्ट्स का ज्यादा इस्तेमाल कर रहे है जिसके कारण बल कमजोर और डैंड्रफ का शिकार हो रहे है। बालो आकर्षक और मजबूत बनाने का चक्कर में केमिकल युक्त हेयर प्रोडक्ट का उपयोग कर रहे है।

भोजन:-

हम शुद्ध और स्वस्थ खाना तो ले ही नहीं पाते कई बार और हम ज्यादार फास्ट फूड वाला खाना खाते है। हम ज्यादा ऑइली, मसाले और जंक फूड खाने से बालो को पोषण नहीं मिल पता जिससे बालो में डैंड्रफ और गंजेपन की शिकायत हो जाती है।

अच्छे से कंघी और सर को साफ न करना:-

कभी कभी रूसी का कारण हम बालो को साफ नहीं रखते और सर को अच्छे से नहीं धोते है जिससे सर में गन्दगी बढ़ जाती और और मृत कोशिका बढ़ जाती और सर में रुसी बढ़ जाती है। दूसरी वजह सर में रोजाना कंघी का ना करना भी है।

रूखी त्वचा:-

यदि हमारे सर की रूखी त्वचा है तो डैंड्रफ का यह एक कारण है। रूखी त्वचा की वजह से पपड़ी बनकर फिर रूसी का रूप ले लेती है।

चर्म रोग:-

चर्म रोग सोरायसिस,एक्ज़िमा और अन्य चार्म रोग की वजह से भी से भी डैंड्रफ बढ़ जाता है।

थायराइड के कारण:-

थायराइड की समस्या जिनको है उनको डैंड्रफ से सामना करना पड़ता है क्योंकि इसकी वजह से सिर की त्वचा रूखी होने के कारण रूसी जल्दी होती है और बाल जयादा टूटते है और झड़ते है।

बालो के लिए प्याज रस के अन्य प्रयोग

डैंड्रफ से बचने के घरेलु उपाय:-

हमारे सिर में जमी मृत कोशिकाओं को और परत को हटाने के लिए बालो को अच्छे से धोना चाहिए। सर की सफाई अच्छे से करना चाहिए और कंघी भी अच्छे से करनी चाहिए जिससे मौजूदा परत हट जाए। हमें सिर की मालिश करनी चाहिए जैतून या नारियल के तेल से जिससे रक्त परिसंचरण में सुधार हो। जब मौसम चेंज होता है तो रूसी के होने का खतरा बढ़ जाता है हमें मौसम चेंज होने पर थोड़ा ध्यान रखना चाहिए। हमें सीधे सूरज की किरणों से और सीधे मौसम के प्रभाव से बचने के लिए सिर की ढकना चाहिए।
इसके अलावा निचे घरेलु उपाय दिए गए है उनका उपयोग करे।

दही:-

आप एक थोड़ा खट्टा या फिर एक दो दिन पुराना दही अपने सिर में बालो की जड़ो तक लगाए और आधा घंटे से एक घंटे तक लगे रहने दे फिर सिर धो ले ऐसा कुछ दिनों तक करे। डैंड्रफ खत्म होगा और बाल भी मुलायम होंगे।

एलोवेरा जेल:-

डेंड्रफ के लिए एलोवेरा जेल भी फायदा करता है और एलोवेरा एंटी फंगल की तरह काम करता है जिससे डैंड्रफ खत्म होता है।

मुल्तानी मिटटी का उपयोग:-

आप मुल्तानी मिटटी को पानी में भिगो दे फिर उसमे निम्बू का रस मिलाकर 30 घंटे तक बालो की जड़ो में लगाए और सिर धो ले। डैंड्रफ दूर करने के लिए सप्ताह दो तीन बार करे।

मेहंदी:-

मेहंदी लगाने से भी डेंड्रफ में आराम मिलता है आप मेहंदी को एक बर्तन में चाय के पानी के साथ भिगो दे और निम्बू का रस और थोड़ा सा दही मिलादे इसमें और रात भर भीगे रहने दे। सुबह बालो में लागले और जब मेहंदी सुख जाये तो बालो को धो ले। ऐसा आप महीने में 3-4 बार करे डैंड्रफ खत्म होगा।

नहाने से पहले में सर में सरसो के तेल से मालिश करे और 10-15 मिनट बाद नहाले ऐसा महीने में तीन चार बार करे।

अनुलोम-विलोम प्राणायाम,    वज्रासन योग के लाभ और विधि,  मोटापा कम के लिए क्या उपाय करे ?

स्वस्थ रहने के लिए इन बातो पर जरूर ध्यान दे,

दादी माँ के नुस्खे

Add Comment