Breaking News
Home / Food and Drink / जानें कैसे, जोड़ो के दर्द में आराम देती है दालचीनी

जानें कैसे, जोड़ो के दर्द में आराम देती है दालचीनी

दालचीनी एक प्रकार का मसाला है। दालचीनी के फायदे बहुत सारे है और इसमें एंटीऑक्सीडेंट का गुण भी पाया जाता है। इसका औषधीय उपयोग होने के कारन इसका घरेलु उपचार में भी किया जाता है। इसका उपयोग बहुत सी बीमारियों के लिए किया जाता है। इसका जोड़ो के दर्द में कैसे राहत देगी और कैसे करना है प्रयोग यहाँ देखे।

और ये भी पढ़े:-हींग का अनेक रोगो में घरेलु उपाय

जोड़ो के दर्द में आराम के लिए दालचीनी का प्रयोग कैसे करे

दालचीनी जोड़ो के दर्द में आराम देती है।अर्थराइटिस में दालचीनी के प्रयोग से जोड़ों के दर्द में जल्द राहत देता है। दालचीनी में दर्द और सूजन को समाप्त करने के गुण पाये जाते हैं। दालचीनी तत्काल राहत ही नहीं देता है, जबकि धीरे-धीरे गठिया को ठीक भी करता है।

अर्थराइटिस (गठिया) की वजह से जोड़ो में दर्द होता है। इस दर्द का असर मुख्यतया घुटनो, कोहनी, उंगलियों और तलवो में अधिक होता है। इसमें दर्द के साथ सूजन भी आ सकती है। इस प्रकार के रोग में रोगी को समस्या जैसे- उठने-बैठने में और चलने में तकलीफ होती है। इस दर्द में दवाइयों से भी कोई विशेष फ़ायद नहीं होता है इससे अच्छा आप घरेलु उपायों को अपनाये। दालचीनी का प्रयोग इस दर्द में बहुत आराम देगा।

और ये भी पढ़े:-जाने ग्रीन टी के फायदे और नुकसान

दर्द में जल्द आराम के लिए दालचीनी पेस्ट

दालचीनी का पाउडर बना ले और इसमें थोड़ा सा या कुछ बून्द पानी की मिलाकर इसका पेस्ट तैयार करे। जहा दर्द है इस पेस्ट को वाहा जोड़ो पर लगाकर के कपडे से ढक दे। ध्यान रहे कपड़ा मुलायम हो जिसे लम्बे समय तक ढका रहे। इसके प्रयोग से दर्द और सूजन दोनों में आराम मिलता है। क्योंकि दालचीनी अर्थराइटिस की वजह से होने वाले दर्द और सूजन दोनों को खत्म करती है।

दालचीनी और शहद

आप दाल चीनी और शहद को मिलाकर सुबह खली पेट गर्म पानी से ले अर्थराइटिस(गठिया) के दर्द में राहत मिलेगी। आप डेढ़ चम्मच दालचीनी पाऊडर और एक चम्मच शहद की ले। इसको लेने से बढ़ा हुआ यूरिक एसिड काम होता है जिससे इस दर्द में आराम मिलेगा। कुछ दिनों में असर दिखेगा।

और ये भी पढ़े:-गेहू के ज्वारे का रस अनेक रोगो की दवा

स्पेशल चाय पिये सप्ताह में 2 बार

सप्ताह में दो बार ये स्पेशल चाय पिने से अर्थराइटिस(गठिया)में आराम मिलता है और धीरे धीरे ये समस्या खत्म हो जाती है।

इस चाय को बनाने के लिए 250 ग्राम दूध व 250 ग्राम ही पानी ले। अब इसमें दो लहसुन की कलियां, एक-एक चम्मच सौंठ या हरड़ तथा एक-एक दालचीनी और हरी इलायची डाले। इसके बाद ही इसे अच्छे से धीमी आंच पर रखे। जब पानी जल जाये तो उसके बाद उस दूध को पिने से गठिया के दर्द में आराम मिलता है।

अर्थराइटिस(गठिया) के लिए कुछ और जरुरी और बातें:-

  • गठिया व्यक्ति के आंतरिक अंग, जोड़ों और त्वचा को नुकसान पहुँचाता है।
  • वयक्ति को अपना वजन कम रखना चाहिए।
  • सुबह गरम पानी से नहाना चाहिए।
  • कसरत करना तथा जोड़ों को हिलाने से भी धीरे-धीरे ये समस्या दूर होती है।

जाने गर्मी में गन्ने का रस पिने के क्या फायदे है,  तुलसी के उपयोग

पानी पीने का भी तरीका होता है जरूर पढ़े!,  आंवले का उपयोग

ग्रीन टी पीने का सही समय और बनाने की विधिअजवाइन के फायदे

About admin

Check Also

मेथी के फायदे हिंदी में

कई बीमारियों से हमें बचाती है हरी मेथी जानें इसके फायदों के बारे में

सर्दियों के इस मौसम में हरी सब्जियों की भरमार होती है। इन दिनों बाजार में …