गेहू के ज्वारे का रस अनेक रोगो की दवा | Wheatgrass Juice Benefits in hindi

Wheatgrass Juice Benefits in hindi- ज्वारे का रस अनेक रोगो के लिए रामबाण औषधि है ये कई कठिन से कठिन रोगो में कारगर साबित हुआ है, ये रस कैंसर जैसी जानलेवा बीमारी में भी सही है, यदि इस रस को नॉर्मल व्यक्ति भी रोजाना पीये तो कोई रोग नहीं होगा और हम ऐसा कह सकते है की ऐसा कोई रोग नहीं है जो इस रस को पीने से ठीक न हो। ऐसे ऐसे बड़े बड़े रोग जिनके लिए डॉक्टरों ने जवाब दे दिया था वो रोग भी इस ज्वारों के रस से ठीक हुए है।

पालक का जूस पीने से मिलते हैं कई फायदे जानें

गेहू के ज्वारे(Wheatgrass Juice) के रस में विटामिन ए, विटामिन सी, विटामिन ई, विटामिन के, और बी उपस्थित होते है इस रस में पोटेशियम, आहार फाइबर, थायामिन, राइबोफ़्लिविन, नियासिन, विटामिन बी 6, पैंटोथेनिक एसिड, लोहा, जस्ता, तांबे, मैंगनीज और सेलेनियम भी हमें मिल सकते है।

गेहू के युवा या छोटे पौधे को गेहू के ज्वारे कहते है। यह एक छोटी घास की तरह दिखती है लेकिन ये हरी और चमकदार होती है। यह प्राकृतिक चिकित्सा में एक बड़ी भुमीखा निभाती है। इसके विशेष स्वस्थ्य लाभ भी है।

कुछ लोग गेहू ज्वारे को ग्रीन ब्लड भी कहते हैं क्योंकि इसमें उच्च स्तर का क्लोरोफिल पाया जाता हैं, जो Wheatgrass को एक असामान्य हरा रंग देता है।

जानें कब है पानी पीने का सही समय, सही तरीके और इससे होने वाले लाभ(Pani Pine ke Fayde)

गेहू के ज्वार के रस बनाने की विधि:-

यह रस बनाने के लिए आपको आठ गमले या फिर आपके पास खुली जगह है तो आप वाहा आठ क्यारी बना ले। प्रत्येक गमले में मिटटी भर दे और थोड़ा खाली छोड़ दे हो सके तो खाद वाली मिटटी डालदे, गमलो को ऐसी जगह रखे जहा इनको सीधी धुप ना लगे और खुली हवा, प्रकाश भी मिलता रहे और इनको क्रम से लगाएआप चाहे तो गमले के नम्बर भी डाल सकते है जिससे आपको याद रहे।

धनिये का पानी पीने के फायदे

हमारे पास अच्छे किस्म के गेहूं होने चाहिए, हमें एक मुट्ठी भर गेहूं की लेकर सुबह भिगो दे गेहूं अच्छे से भीग जाने चाहिए अब इन गेहूं को अगले दिन सुबह पानी निकालकर पहले नंबर के गमले में बो दे। गेहूं को बोन के लिए आप गमले की थोड़ी मिटटी हटा कर थोड़ा पानी से मिटटी गीली करके और गेहूं को बिखेर दे और निकली हुई मिटटी से उनको पूरा ढक दे और ऊपर से थोड़ा पानी छिड़क दे। ऐसे ही दुबारा गेहूं को भिगो दे और अगले दिन फिर यही प्रक्रिया करे और दूसरे गमले में गेहूं को बो दे और ऐसे करके एक एक कर सारे गमलो में बो दे।

हींगवाला पानी पीने के जबरदस्त फायदे

आप दिन में गमले थोड़ा थोड़ा पानी डालें शुरू एक दो दिन तो दिन में दो तीन बार पानी स्प्रे कर दे जब ज्वारे उग जाये उसके बाद आप दिन में एक बार भी डाल सकते है। सात आठ दिन बाद पहले नम्बर के गमले में ज्वारे जब ६-७ इंच के हो जाये तो आप इन्हे रस निकालने के लिए काम में ले सकते हो।

ज्वारे का रस कैसे ले:- Wheatgrass Juice in Hindi

रस निकालने के लिए आप ज्वारे को जड़ वाला हिस्सा और जो सफेद वाला हिस्सा है उसको छोड़ कर बाकि काट ले या फिर आधा इंच छोड़कर कर बाकि काम में लेलो।
इस रस को काम में लेने के लिए आप रोज सुबह शौच से निवर्त होकर खली पेट इस ज्वारे के रस का उपयोग करे और इसके उपयोग करने के एक घंटे तक कुछ नहीं लेना चाहिए। आपको ये ध्यान रखना चाहिए इस रस को निकलते ही पीना चाहिए जायदा देर तक रखने पर इसके गुण (पोषक तत्व) खत्म हो जाते है।

Ajwain ke Fayde: अजवाइन है गुणों का खजाना, जानिए इसके फायदे

यदि आप पहली बार ज्वारे के रस(wheatgrass juice) का उपयोग कर रहे है तो आप शुरुआत में रस की मात्रा का उपयोग कम ले उसके बाद मात्रा को धीरे धीरे बढ़ाये। ऐसा इसलिए कहा जाता है की हो सकता है शुरू में आप इसका उपयोग करो तो उलटी आने जैसी समस्या या फिर हल्का बुखार जैसा भी लग सकता है ।

Healthy Diet: स्वस्थ आहार

सावधानी-

इस juice को पिने में के दौरान कुछ सावधि रखनी चाहिए। इसका उपयोग तुरंत मतलब 10 से 15 मिनट के अंदर-अंदर कर लेना चाहिए। और ध्यान रहे की इस रास में अन्य पदार्थो की मात्रा नहीं होनी चाहिए। अच्छे लाभों के इसको सुबह खली पेट लेना सबसे सही रहेगा। सुबह खली पेट लेने से इसके लाभों के लिए रक्त प्रवाह में इसके पोषक तत्वों को अधिकतम किया जा सके।

ज्वारे के रस के फायदे:- Wheatgrass Juice Benefits in Hindi

यह अल्सर, चिड़चिड़ा आंत्र सिंड्रोम, ईर्ष्या, और अपच का इलाज करने में मदद करता है

 कैंसर को रोकने में

कुछ वैज्ञानिकों का कहना है कि गेहू के ज्वारे(Wheatgrass) में हीमोग्लोबिन(hemoglobin) के समान संरचना होती है। हीमोग्लोबिन एक प्रोटीन है जो शरीर के चारों ओर ऑक्सीजन को ले जाने का काम करता है।

इस कारण से हम कह सकते है की व्हीटग्रास रक्त में ऑक्सीजन की आपूर्ति करता है।इसमें एंजाइम होते हैं जिनमें एंटीऑक्सिडेंट(antioxidant) गुण होते हैं जो डीएनए को ऑक्सीडेटिव क्षति को रोकने में मदद कर सकते हैं।

वैज्ञानिकों ने एक लैब में मुंह के कैंसर कोशिकाओं लिए एक गेहू के ज्वारे(Wheat grass) तैयारी लागू की । उन्होंने देखा कि कैंसर कोशिकाओं की वृद्धि धीमी हो गई। इससे यह हुआ की इस प्रकार के मुंह के कैंसर के इलाज के लिए Wheat grass एक दवा के रूप में काम क्र सकती है।

पाचन में सहायक होता है

अगर आपको अपच है तो इसके लिए आपको अपने दैनिक आहार में गेहू के ज्वारे(Wheat grass) को शामिल करे। इसमें कई तत्व होते हैं जो पाचन को बढ़ाते हैं, जिसमें फाइबर, और बी कॉम्प्लेक्स विटामिन शामिल हैं, जो पाचन तंत्र की मांसपेशियों के कार्य को बढ़ाता हैं।

सामान्य रूप से (बी कॉम्प्लेक्स विटामिन) भोजन से प्राप्त ऊर्जा को ऊतक कोशिकाओं में स्थानांतरित करने में मदद करते हैं। थायमिन, कार्ब्स को ऊर्जा में बदलने में मदद करता है, और राइबोफ्लेविन आपके पाचन तंत्र के श्लेष्म को स्वस्थ रखता है। ये दोनों व्हीटग्रास में होते है।

त्वचा रोग और घावों का इलाज करने में

ये शरीर में लाल रक्त कोशिकाओं को बड़ा सकता है जो रोगियों में संक्रमण की आवश्यकता को कम करने में सक्षम है। ये आपको विशेष रूप से सर्दी, फ्लू और संक्रमण से बचने में सक्षम है।

प्रतिरक्षा बढ़ाता है

गेहू के ज्वारे लाल रक्त कोशिकाओं को बढ़ाने में, शरीर की प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया को मजबूत करने में और बीमारी को रोकने में मदद करता है।

कामेच्छा बढ़ाने में

क्लोरोफिल में पर्याप्त मात्रा में मैग्नीशियम की मात्रा पायी जाती है कुछ एंजाइमों के कार्य को ठीक करता है जिससे शरीर में सेक्स हार्मोन बढ़ते हैं। यह आपकी कामेच्छा और यौन शक्ति को बढ़ाता है। इसके नियमित सेवन से आपको अधिक आत्मविश्वास और सहनशक्ति मिलती है।

जिगर को शुद्ध करने में

यह जिगर को शुद्ध करने में महत्वपूर्ण भूमिका निमभता है।

बालों को स्वस्थ रखने में

अगर आप नियमित शेम्पू में एक चमच गेहू के ज्वारे का पाउडर मिलाकर बालो में लगाए ये आपको जड़ो को मजबूत बनता है। यह सिर की मृत कोशिकाओं को हटाने में मदद करती है और बालों के विकास को बढ़ती है। इसका पाउडर लगाने से बालों का झड़ना रोका जा सकता है।

तनाव कम करने में

गेहू के ज्वारे(Wheatgrass) में विटामिन चिंता को दूर करने और मानसिक स्वास्थ्य की बेहतर बनाने में आपकी मदद करता हैं , और अधिवृक्क प्रणाली को बढ़ाने में इसकी मदद से आप तनाव को बेहतर ढंग से ठीक कर सकते हैं।

वजन घटाने के लिए

वजन का बढ़ने के कारन मधुमेह रोग हो सकता है। 2014 में प्रकाशित एक लेख में एक माउस पर किये गए अध्ययन से पता चला की गेहू के ज्वारे(Wheat grass) मोटापे के इलाज में मदद कर सकता है।

उच्च रक्तचाप को कम करने मे

यह आपके रक्तचाप को कम करने में मदद करता है। । क्लोरोफिल अणु हीमोग्लोबिन के समान है और रक्त कोशिका की संख्या को बढ़ाता है । यह रक्तचाप को सामान्य करने में मदद करता है। यह रक्त को शुद्ध करने और रक्त परिसंचरण में सुधार करता है।

हिमोग्लोबिन को बढ़ाने में

हमारे शरीर के लाल रक्त कोशिकाओं के लिए हीमोग्लोबिन का होना अविश्वसनीय रूप से महत्वपूर्ण है, क्योंकि हमारे शरीर में लाल रक्त कोशिकाओं में हमारे फेफड़ों से हमारे शरीर के बाकी हिस्सों तक ऑक्सीजन ले जाने का काम होता है।

समें विटामिन बी 12 और लोह तत्व भरपूर मात्रा में पाया जाता है जो कोशिकाओं को मजबूत और पुनर्निर्माण करने में मदद करता है। इन
दोनों पोषक तत्व के पाए जाने का कारन ये है की इसमें क्लोरोफिल तत्व होता है, जो आयरन से भरपूर होता है।

रूसी से छुटकारा पाएं

रूसी एक बालो में पनपने वाली समस्या है। बहुत ही कम लोग जानते है कि इसमें(Wheatgrass) के साथ बालों को रगड़ने से आपकी सिर के पीएच को संतुलित कर सकता है और इसकी को सुधर सकता है, और Wheatgrass से अन्य त्वचा की बीमारियों को ठीक करने की क्षमता इस घरेलू उपचार से कर सकते है।

आपके नाखूनों की सुंदरता बढ़ाता है 

इसमें पर्याप्त मात्रा में आयरन और ऑक्सीजन का अच्छा संचार करता है और आपके नाखूनों को एक नया जीवन देने में महत्व पूर्ण भूमिका निभाता है।

लिपिड स्तर को स्थिर करता है

यह शरीर में लिपिड प्रतिशत को स्थिर करके कोलेस्ट्रॉल को सही रखने में मदद करता है।

शरीर की गंध को रोकता है

यह मुंह, त्वचा और पूरे शरीर से विषाक्त पदार्थों और अपशिष्ट पदार्थ को शरीर से बाहर निकलता है। यह एक प्राकृतिक डीओ के रूप में कार्य करता है।

गेहू के ज्वारे के रस(wheatgrass juice benefits in hindi) एक अमृत के समान है इस रस का उपयोग नियमित करना चाहिए। ऐसा नहीं है की जो अस्वस्थ हो वो ही इस रस का उपयोग करे जो स्वस्थ है उसे भी इसका उपयोग रेगुलर करना चाहिए।

तुलसी के उपयोग

जानें बहुत ज्यादा ठंडा पानी पीने से होने वाले नुकसानों के बारे में

Add Comment