गर्दन में दर्द:- गलत मुद्रा में बैठने से बढ़ता है

गर्दन का दर्द

ये दर्द आजकल एक सामान्य बात है। वैसे देखा जाये तो हमें आये दिन किसी ना किसी प्रकार का दर्द होता रहता है। गर्दन के दर्द से आजकल ज्यादातर लोग परेशान है। ये दर्द कोई गंगहिर समस्या नहीं है लेकिन इसे नजरअंदाज ना करे।

मोबाइल और कंप्यूटर के बढ़ते प्रयोग से गर्दन दर्द की तकलीफ आम हो गयी है। इसका सबसे बड़ा कारण ये ही है की हम लोग गलत मुद्रा में बैठना है। कुछ बातो का ध्यान रख कर इस दर्द से बचा जा सकता है।

हार्ट अटैक से बचने के उपाय

गर्दन दर्द से बचने के उपाय:-

 

  • हम जब भी काम करे तो गर्दन को सही अवस्था में रखे। और सही मुद्रा यही है की आप गर्दन को सीधी और ठुड्डी को थोड़ा अंदर रखे।
  • लगातार बहुत ज्यादा देर तक झुककर काम करने से गर्दन में दर्द हो ने की संभावना रहती है। ऐसा करने से बचे।
  • यदि आप कसरत करते है तो कसरत करते समय गर्दन को ज्यादा खिचाव ना दे। जिससे की आपको तकलीफ ना हो।
  • बैठकर काम करने वालो के लिए मेज या कुर्सी दी उचाई का ध्यान रखना बहुत जरुरी है। कुर्सी पर इस तरह से बैठा जाये की धड़ के निचली पीठ को पर्याप्त सहारा मिलता रहे।
  • जो लोग गर्दन के दर्द से पीड़ित है उन्हें गर्दन को किसी प्रकार के झटके लगने से बचाना चाहिए।
  • आप लगातार कुर्सी पर बैठे रहते है तो आप बिच बिच में उठाते रहना चाइये और अंगड़ाई लेते रहना चाहिए।
  • लगातार एक ही मुद्रा में रहने से बचाना चाहिए। थोड़े समय के अंतराल में मुद्रा चेंज करते रहना चाहिए।
  • सर्दियों के दिनों में गर्दन को ठण्ड से बचाये रखना चाहिए।
  • अगर आपको को गर्दन दर्द है तो बिना किसी चिकत्सा परामर्श के कोई दवाई नहीं लेनी चाहिए। चिकत्सा परामर्श के अनुसार औषधि ले और व्यायाम करे।
  • सोते समय शरीर पर हमारा नियंत्रण बहुत कम रहता है।इसलिए यह ध्यान रखना बहुत जरुरी है की सिर के निचे तकिया किस आकर का हो। आपका तकिया उचित आकर का और उचाई इतनी होनी चाहिए की गर्दन ठीक उचाई पर हो और गर्दन को खिचाव ना मिले। तकिया मुलयम होना चाहिए कठोर ना हो।

 

टॉन्सिल में संक्रमण चिंता की बात

रोगो की कुछ विशेष जानकारी ,

जाने गर्मी में गन्ने का रस पिने के क्या फायदे है,  बुरी आदते जो बालो के लिए हानिकारक है

माइग्रेन से मिलेगा छुटकारा,

डैंड्रफ(रूसी) क्या है: घरेलु उपायों से मिलेगा डैंड्रफ(रूसी) से छुटकारा

Add Comment