Breaking News
Home / योग / कैसे करे मयूरासन

कैसे करे मयूरासन

मयूरासन

ये आसन मयूर की तरह किया जाता है ।आप इस आसन मे आपकी मुद्रा मोर के जैसे होती है इसलिए इसे मयूर आसन कहा गया है। इस आसन को करने में आपको सावधानी रखनी चाहिए क्योंकि हमारे शरीर का पूरा भार हमरे हाथो पर होता है। इसलिए आसन का अभ्यास करे और इसकी विधि यहाँ पर देखे कैसे करे।

मयूरासन करने की विधि:-

  • इस आसन को करने के लिए आप घुटनो के बल बैठ जाये। थोड़ा आगे की और झुककर अपनी कोहनियो की मिलाकर हथेलियों को जमीं पर टिका ले।
  • ध्यान रहे कलाइयों के बिच कम से कम डेढ़ इंच की दुरी रहे।अब सर को आगे की और झुकाकर कोहनियो को आप अपनी नाभि के पास टिकाये और आप अपने हाथ मजबूती से जमाये रखे।
  • अपने शरीर को कोहनियो पर संतुलित रखते हुए पैरो को पीछे की और सीधा फैला ले और अपने शरीर का पूरा वजन कोहनियो पर लेने का प्रयास करे।
  • स्वास भरते हुए आप आगे से सर और पीछे से अपने पैर जमीन से उठा ले और भूमि के समान्तर कर ले और इस स्थति में आप संतुलन बनाये रखे पूरा शरीर हवा में रहे सिर्फ आपकी हथलियों जमीन पर टिकी रहे।
  • कुछ देर ऐसी स्थति में रहे आप अपनी क्षमता के अनुसार समय तय करे।
  • वापस आते समय पहले पांव भूमि से लगाए , कोहनियो हटा दे और पीठ के बल लेटकर विश्राम करे।

second step
second step

ध्यान रखे:-

मयूरासन की प्रारम्भिक स्थति में पहले अपना सर जमीन पर रखते हुए पैरो को तानते हुए भूमि के समान्तर ऊपर उठाये जब आपको इसका अभ्यास हो जाये तो फिर आगे से शरीर को उठाये। अगर आपको दिकत होती है तो आप चाहे तो शुरू में कोहनियो में थोड़ा ज्यादा फैसला रख कर अभ्यास कर सकते है।

लाभ मयूरासन के :-

  • हमारे शरीर का रक्त संचार बढ़ता है और हमारा रक्त शुद्धि होता है जिससे हमारा शरीर सुगठित और सुन्दर होता है।
  • मोटापा दूर होता है और जिगर व तिल्ली के रोग दूर हो जाता है।
  • इस आसन से पाचन तंत्र और गुर्दे की कार्य सकती बढ़ती है।
  • त्रिदोष मतलब वात, कफ और पित के विकार दूर होते है।

सावधानी:-

  • किसी प्रकार की बीमारी हो और शारीरिक दुर्बल वाले ना करे।
  • हाई बी पी वाले और हार्ट से सम्बंधित रोगी ये मयूरासन न करे।
  • जिनको हर्निया हो उसे ये आसन नहीं करना चाहिए।
  • गर्भवती महिलाओ को और मासिक धर्म में भी ये आसन नहीं करना चाहिए।
  • अगर ये आसन करने में थोड़ी तकलीफ हो तो थोड़ा आराम करके फिर दुबारा करे।

 

वज्रासन योग के लाभ और विधि,  अनुलोम-विलोम प्राणायाम

झड़ते बालों के लिए चमत्कारी उपाय

About admin

Check Also

प्राणायाम के कुछ आवश्यक नियम और निर्देश

प्राणायाम की सफलता के लिए प्राणायाम करने वाले को हर तरह के नशीले पदार्थ जैसे- …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *