शरीर के जोड़ों और हड्डियों में दर्द के कारण लक्षण और उपचार

आजकल ज्यादातर लोगों को जोड़ों के दर्द की शिकायत है। मौसम में बदलाव, बढ़ती उम्र, अनियंत्रित दिनचर्या व कई अन्य कारणों से लोगों को अक्सर शरीर में सूजन, जोड़ों का दर्द आदि की शिकायत होती रहती है। महिलाओं के मुकाबले यह समस्या पुरुषों में अधिक पायी जाती हैं। जिसको आमतौर पर गठिया बोलते हैं। जोड़ों औऱ हड्डियों का दर्द बहुत तकलीफदेह होता है।

ये भी पढ़े- जानें कैसे, जोड़ो के दर्द में आराम देती है दालचीनी

ये समस्या काफी समय तक एक ही जगह बैठे रहने से, ज्यादा सफर करने से या उम्र बढ़ने के साथ शरीर के किसी भी हिस्से में शुरू हो जाती है और आजकल तो यह समस्या किशोरों में भी देखी जा रही है। अधिकांश समस्याएं दवाओं से ठीक हो जाती हैं, लेकिन कुछ समस्याओं के लिए सर्जरी की आवश्यकता होती है।

ये भी पढ़े- गर्दन में दर्द:- गलत मुद्रा में बैठने से बढ़ता है

लेकिन जोड़ों का दर्द लाइलाज नहीं है, प्राकृतिक चिकित्सा के माध्यम से भी इसके दर्द से राहत मिल सकती है। तो आइये आज हम आपको जोड़ों और हड्डियों में होने वाले इस असहनीय दर्द से बचने के कारणों और उपचारों के बारे में बताते हैं।

जोड़ों में दर्द के लक्षण-

  • जोड़ों में सूजन रहना और चरचराहट की आवाज आना
  • चलने या दौड़ने पर जोड़ों का लॉक हो जाना
  • जोड़ों में चलते समय, खड़े होने पर, हिलने-डुलने पर और यहां तक कि आराम करते समय भी दर्द होना
  • जोड़ों में कड़ापन रहना खासकर सुबह और शाम को या यह पूरे दिन
  • जोड़ों और हड्डियों में मरोड़ होना

ये भी पढ़े- जाने कमर दर्द होने के मुख्य कारण

जोड़ों में दर्द के कारण-

  • बोन कैंसर के कारण
  • हड्डियों में मिनरल की कमी के कारण
  • हड्डियों में संक्रमण के कारण
  • हड्डियों को रक्त की आपूर्ति में अवरोध के कारण
  • जोड़ों में संक्रमण के कारण
  • ब्लड कैंसर (ल्यूकेमिया) के कारण
  • अधिक परिश्रम के कारण
  • हड्डी टूटना, मोच या ट्यूमर के कारण
  • उम्र बढ़ने के कारण
  • उपास्थि (कार्टिलेज) के घिस जाने के कारण
  • किसी अंदरूनी चोट के कारण
  • ज्यादा वजन बढ़ने से हड्डियों में ज्यादा दबाब के कारण

ये भी पढ़े- सर दर्द को नहीं करे नजरअंदाज !

जोड़ों के दर्द से बचने के उपाय-

  • ज्यादा समय तक एक ही जगह न बैठे रहें। हर एक घंटे बाद अपनी सीट से उठें व कुछ क्षण के लिए अपने शरीर को स्ट्रेच करें।
  • बैठते और लेटते समय अपने शरीर को सही मुद्रा में रखें।
  • अपने जोड़ों पर अधिक जोर न दें।
  • स्वस्थ और पौष्टिक आहार लें।
  • भोजन में खट्टे फलों का प्रयोग कम करें।
  • माशपेशियों को एक्टिव रखने के लिए हल्का फुल्का व्यायाम या कोई और फिजिकल एक्टिविटी करते रहें।
  • अपने वजन और मोटापे पर नियंत्रण रखें। नियमित व्यायाम व योगाभ्यास करते रहें।

ये भी पढ़े- शुगर को नियंत्रित करने में सहायक हैं नीम के पत्ते, डैंड्रफ से भी दिलाएं छुटकारा

जोड़ों और हड्डियों के दर्द से निजात पाने के कुछ घरेलू उपचार-

  • जोड़ों के दर्द से परेशान लोग दिन में दो बार अदरक का सेवन करें आराम मिलेगा।
  • जोड़ों के दर्द से पीड़ित लोगों को फूल गोभी का रस पीना चाहिए। इससे दर्द में काफी राहत मिलती हैं।
  • अगर आपके घुटनों में दर्द हो रहा है तो आप वहां पर नीबू के रस की मालिश करें। इससे ना केवल दर्द कम होगा बल्कि सूजन भी कम हो जाएगी।
  • जिन लोगों के जोड़ों में दर्द होता है उन लोगों नहाने में गर्म पानी का उपयोग करना चाहिए।
  • जोड़ों के दर्द के उपचार करने में तुलसी बड़ी कारगर भूमिका निभाती है। तुलसी का तेल बनाकर दर्द वाली जगह लगाने से तुरंत आराम मिलता है।
  • मालिश करने से जोड़ों के दर्द को आराम मिलता है। लहसुन के तेल, सरसों के तेल या नारियल के तेल से हल्के हाथों से मालिश करें।
  • एक गिलास पानी में एप्पल साइडर विनिगर मिलाकर पीने से जोडों के दर्द में फायदा मिलता है।
  • जोड़ों के दर्द के रोगियों को लहसुन, मौसमी, संतरा और गाजर का जूस रोज पीना चाहिए। इससे दर्द में राहत मिलेगी।
  • ब्रोकली खाने से भी गठिया में आराम मिलता है। ब्रोकली में कई ऐसे पोषक तत्व पाए जाते हैं जो जोड़ों की सेहत लंबे समय तक बरकरार रखते हैं।
  • इसके अलावा सही साइज के जूते पहनकर, एक्सरसाइज करके और मोटापे को नियंत्रित रखकर भी आप जोड़ों के दर्द से राहत पा सकते हैं।

रात में स्नान, नींद को बनाता है बेहतर

जानें गठिया के दर्द से तुरंत राहत का नुस्खा

Add Comment