आलू के औषधीय गुण जो करते है बहुत सी बीमारियों का इलाज

आलू का हमारे जीवन में अलग ही महत्व है इसलिए इसे सब्जियों का राजा कहा जाता है। घर में हर किसी को आलू पसंद है और ये हर घर में उपयोग भी किया जाता है। ये सबसे सस्ती सब्जी है और पुरे साल मिलने वाली चीज है। इसमें ढेर सरे गुण मौजूद है। आलू में विटामिन सी, बी काम्प्लेक्स, आयरन, कैल्शियम, मैगनीज और फास्फोरस जैसे तत्व होते है। आलू हमारे कई रोगो के लिए औषधीय गुण पाए जाते है।

More read:-इन उपायों से पाए आलू से सुन्दरता

अनेक रोगो में फायदेमंद है आलू:-

हाई बी पी में :-

आलू के सेवन से आप बी पी को कंट्रोल कर सकते हो। हाई बी पी होने पर आलू को पानी में नमक डालकर उबाले और छिलके सहित खाये।

कब्ज:-

कब्ज से पीड़ित रोगी आलू को भून कर खाये। क्योंकि आलू में उपस्थित पोटेशियम साल्ट कब्ज से राहत देने में मदद करता है।

बवासीर:-

बवासीर होने पर आलू और उसकी पतियों के रस को पिए आराम मिलेगा।

जल जाने पर:-

यदि शरीर का कोई हिस्सा आग से जल जाये तो उस पर कच्चा आलू पीसकर उसका लेप लगाए। जिससे जलन नहीं लगेगी और छाला भी नहीं होगा। इस लेप लगाने से घाव जल्दी ठीक होगा और जले हुई जगह जलन नहीं होगी।

दांत रोग में:-

दांत में किसी भी प्रकार का रोग होने पर जैसे दांत में दर्द, मसूड़ों में खून आना और फूलना और हड्डिया सुखना आदि। आलू को भूनकर छिलके सहित खाने से आराम मिलेगा। आलू का सुप बनाकर भी ले सकते है।

बाली की रुसी और झड़ने से रोकने में:-

आलू के जिस पानी में उबाले उस पानी में थोड़ा सा आलू मेश करले। अब इससे बाल धोये जिससे बालो की रुसी और झड़ने से रोकते है। इससे बाल मुलायम और जड़ो से मजबूत भी होते है।

गुर्दे में पथरी :-

यदि गुर्दे में पथरी है तो आलू का खाने में रोजाना उपयोग करना चाहिए। इसके साथ गुर्दे में पथरी वाले को पानी खूब पीना चाहिए।

हींगवाला पानी पीने के जबरदस्त फायदे,  ग्रीन टी पीने का सही समय और बनाने की विधि

डिप्रेशन को पहचाने और ऐसे बचें डिप्रेशन से, गर्दन में दर्द:- गलत मुद्रा में बैठने से बढ़ता है

जाने हार्ट अटैक आने के संकेत

Add Comment